sss

प्रधानमंत्री के नोट बदलवाने के आदेश के बाद देश की जनता देशहित में बैंक की लाइनों में दिनभर खड़े होकर परेशानियाँ उठाते हुए पुराने नोटों को बदलवाना चाहती हैं. लेकिन बैंककर्मियों का सलूक उन्हें उनके ही देश में बेगाना होने के एहसास के साथ पडोसी दुश्मन मुल्क की पहचान के लकब दे रहा हैं.

ऐसा ही एक मामला उत्तरप्रदेश के अलीगढ में पेश आया जहाँ आम जनता यूनियन बैंक के बाहर सुबह से लाइन लगाये हुए पुराने नोटों को बदलवाने के लिए लाइन में लगी हुई थी. लेकिन बैंककर्मियों ने बैंक को 4 बजते ही बंद कर दिया. जबकि सरकारी आदेश के अनुसार बैंकों को रात 8 बजे तक खुलना था. देश के आम नागरिकों को बैंक कर्मियों से इस बारे में सवाल पूछना गुनाह हो गया.

विडियो में साफ़ नजर आ रहा हैं कि जब बैंक के बाहर लाइन में खड़े लोगों ने बैंक के जल्दी बंद होने के बारे में सवाल किया तो उन्होंने लोगों को पाकिस्तानी कह कर सबोधित किया और बदतमीजी भी की. बावजूद इसके की वहां पर महिलाये भी मौजूद थी.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें