वैसे ये शिकायत तो भाई जी हमें भी थी .. जित्ती मेहनत से रट्टा मारकर स्कूल जाओ, शाबाशी लड़कियों को ही मिलती थी. मास्साब कहते कल स्कूल क्यों नही आए – लड़की कहती सर बुखार था ..मास्साब कहते – अच्छा ठीक है अब छुट्टी मत करना

मास्साब कहते – कल स्कूल क्यों नही आया बे नालायक ?

लड़का कहता – सर बीमार था –

मासाब कहते – चल चल साइड में आजा अभी तेरी बीमारी ठीक किये देता हूँ, और ले धपाधप ले धपाधप इत्ता मारते की अगली बार बीमार होते ही नाज़ुक जगह खुद बा खुद दुखने लगती ..

विडियो देखे –


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें