अगर आपको मुज़फ्फरनगर दंगा के आरम्भ की कहानी पता है तो ये भी पता होगा की किस तरह पाकिस्तान के फर्जी विडियो को मुज़फ्फरनगर का बताकर जानबूझकर माहौल ख़राब करवाया गया तथा उसके बाद जो हुआ वो दुनिया ने देखा.

ठीक उसी राह पर आगे बढ़ते हुए कैराना में भी ऐसी परिस्थियाँ बनाई जा रही है. एक विडियो जो की फिल्म शोरगुल का है जिसमे एक मुस्लिम नेता को भाषण देते हुए दिखाया गया है वो नेता अपने भाषण में कैराना का ज़िक्र करता है. बस वही से नफरतों के सौदागरों ने ये विडियो वायरल करना शुरू कर दिया. हालाँकि विडियो बिलकुल साफ़ दिख रहा है की किसी फिल्म का है मूविंग कैमरा, साउंड इफ़ेक्ट और लोकेशन देखकर कोई अँधा भी समझ सकता है की ये फिल्म का सीन है

विडियो देखें

देखिये ट्विटर पर कैसे इस विडियो को लेकर चर्चाये हो रही है


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें