62436

अधिकतर देखा जाता हैं की इस्लाम धर्म को लेकर लोगो के बीच कई गलत फहमियां रहती हैं. ऐसा भी कहा जाता है की इस्लाम धर्म में महिलाओं के लिए आज़ादी नहीं हैं. इस्लाम धर्म में महिलाओं को कोई अधिकार नहीं दिया जाता. महिलाओं के नक़ाब या बुर्का पहनने पर भी सवालिया निशान लगए जाते हैं.

आइये आपको बताते की वेस्टर्न कल्चर या अमेरिका में रहने वाली इस्लामिक महिलाएं बुर्क़े को लेकर किया विचार रखती हैं. इस बात को जानने के लिए कई मुस्लिम्स गर्ल्स को लेकर हिजाब के बारे में पूछा गया. आइये एक नज़र उनपर डालते हैं.

पहली अमेरिकन लड़की का कहना है की “उसने यह हिजाब 10 साल की उम्र में पहनना शुरू कर दिया था. मैं हिजाब को पहनने में बहुत आरामदायक और आश्वत महसूस करती हूँ”.

दूसरी लड़की से बात करने पर उसने बताया की “वह हिजाब 17 साल की उम्र से पहन रही हूँ इससे पहले मेरे घर-परिवार में हिजाब किसी ने नहीं पहना. मैं अपने घर पर पहली ऐसी लड़की हूँ जिसने हिजाब पहनने का फैसला लिया, कियोकि मेरा मानना है की यह अपना खुद का फैसला होना चाहिए किसी के कहने या सुनने कोई फरक नहीं पड़ता है”.

एक और अमेरिकन लड़की से बात करते उन्होंने बताया की, मैं जब भी सुबह उठती हूँ, “तो सबसे पहले हिजाब को अपने सर से ओढ़ती हूँ प्रेयर करते वक़्त, खाते-पीते, उठते-बैठते हिजाब पहनती हूँ,हिजाब ऐसी चीज़ है की आप अगर नहीं पहने हो तो कुछ नहीं और अगर पहने हो तो बहुत कुछ हैं, यह मेरे ऊपर निर्भर करता हैं की मैं इसको पहनू या नहीं पहनू”.

“नक़ाब आपकी खूबसूरती को बढ़ता और आपको बुरी नज़रो से दूर रखते. सच में अगर आप यह पहनो हैं तो आपको खुद अंदर से एक कम्फ़र्टेबल फीलिंग महसूस होगी, यह अपना खुद का फैसला है. आप इसके लिए किसी से ज़बरदस्ती नहीं कर सकते हैं और न ही इसको किसी के ऊपर थोप सकते है”. अमेरिकन महिला.

आप कही भी जाती हो तो अगर आप हिजाब पहने है तो यह आपको आश्वत देगा, अगर आप काम करती हो काम करते वक़्त पहनती हो तो आप यह ना सोचे के आपको सोसाइटी में एक्सेप्ट नहीं किया जायेगा. आपको किसी और को लेकर चिंतित होने की ज़रूरत नहीं, यह आपकी एक अलग पहचान बनाएगा, हलाकि हिजाब पहनना कोई बहादुरी का काम नहीं हैं लेकिन आपको अपने आप में ही एक गौरव महसूस होगा.

मैं बताना चाहुगी की मैं बहुत पसंद करती हूँ जब कोई मुझसे इस्लाम को लेकर कोई सवाल करता है, सच कहू तो मुझे बहुत पसंद हैं जब कोई मुझसे इस्लाम को लेकर या हिजाब को लेकर भद्दे सवाल करता है. इस्लाम को फॉलो करना मुझे बहुत अछा लगता हैं और इसको बढ़ाना मैं समझती हूँ की येमेरा कर्त्तव्य हैं”.

हर कोई कहता है की इस्लाम में महिलाओं के लिए कोई अधिकार नहीं हैं. मैं कहती नहीं ऐसा नहीं है मुझे देखिये मैं एक सेल्फ-डिपेन्ड लड़की हूँ और अपनी मर्ज़ी से हिजाब पहनती हूँ, और मेरा हिजाब पहनने का डिसीजन मेरा खुद का है”.
अपने धर्म को गहराइयों के साथ पढ़ने के बाद मुझे अपने धर्म पर पहले से ज़्यादा विशवास हो गया है. हिजाब हमारी पहचान है. यह बताता है की आप इस्लाम के मानने वालो में से हैं”.

यह थे उन अमेरिकन लड़कियों के विचार जो वेस्टर्न कल्चर में पली-बड़ी और वही पर शिक्षा हासिल की. उनके ऐसे विचार होने के बावजूद आज हमारे देश में मुलिम महिलाएं वेस्टर्न कल्चर को फॉलो करते करते अपनी ही पहचान खोती जा रही हैं. आज कल की नौजवान पीड़ी हिजाब को मज़ाक समझती हैं जबकि यह हिजाब ही हमारी पहचान है, यह हमको विश्वास दिलाता है के हम महफूज़ हैं.

Web-Title: American girls says Scarf is our identity it is boost up our confidence

Key-Words: Islam, Scarf, Culture, Western, women


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें