नई दिल्ली : रोहित वेमुला की ‘आत्म हत्या’ के बाद ‘इंस्टिट्यूशनल हत्या’ के खिलाफ़ देश के हर शहर में छात्र जमकर विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. इसी कड़ी में आज दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया के छात्रों ने भी अपना विरोध दर्ज कराया और मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी के इस्तीफ़े की मांग की.

प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे जामिया स्टूडेंट्स फ़ोरम के सदस्य मीरान हैदर ने मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी के इस्तीफे की मांग करते हुआ कहा है कि –‘रोहित वेमुला के दोषियों को कड़ी से कड़ी सज़ा दी जाए और हैदराबाद यूनिवर्सिटी के कुलपति अप्पा राव को तत्काल बर्खास्त किया जाए. इसके अलाव जितने भी दोषी हैं, सबको कड़ी से कड़ी सज़ा दी जाए.’

Protest in Jamia

जामिया स्टूडेंट्स फ़ोरम से जुड़े एक अन्य सदस्य व एनएसयूआई के अध्यक्ष इमरान खान ने कहा कि –‘ रोहित ने यूनिवर्सिटी प्रशासन के दबाव और उत्पीड़न से तंग आकर आत्महत्या की है. ऐसे में इसके लिए यूनिवर्सिटी प्रशासन इस आत्महत्या की ज़िम्मेदार है.’

जामिया स्टूडेंट्स फ़ोरम द्वारा निकाले गये इस विरोध मार्च में लगभग 300 से अधिक छात्र मौजूद थे. मार्च के दौरान छात्रों ने जमकर नारेबाज़ी की और मानव संसाधन मंत्री स्मृति ईरानी का पुतला जलाकर अपने गुस्से का इज़हार किया.

दूसरी तरफ़ इस कथित आत्महत्या के मुद्दे पर पुणे में फिल्म व टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एफटीआईआई) के छात्र संस्थान के द्वार के बाहर एक दिन के अनशन पर बैठे हैं.

इतना ही नहीं, जामिया मिल्लिया इस्लामिया से पासआउट छात्र, जो जामिया नगर में रह रहे हैं, ने भी आज जामिया नगर में एक बैठक आयोजित करके देश के अन्य छात्रों के साथ इस लड़ाई में कूदने की तैयारी का मन बना लिया है. फिलहाल, शुक्रवार को देश में दलित-आदिवासियों व अल्पसंख्यकों के खिलाफ़ के बढ़ते ज़ुल्म के विरोध में कैंडल मार्च आयोजित की जाएगी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE