jet-airways

नयी दिल्ली – एक मुस्लिम महिला को एयरपोर्ट पर सिर्फ इस कारण परेशान किया गया तथा उसकी फ्लाइट मिस करवा दी गयी क्यों की उस मुस्लिम महिला के बैग में नारियल थे. एयरपोर्ट कर्मियों ने यह नारियल संदिग्ध नज़र से देखे और उक्त महिला की सामान चेकिंग में जानबूझकर समय बर्बाद करते रहे जिससे की उसकी फ्लाइट मिस हो जाये. यह घटना 5 अक्तूबर को हुई। मुस्लिम महिला अपने तीन बच्चों के साथ अपने पति से मिलने के लिए जेट एयरवेज़ की फ्लाइट से सऊदी अरब जा रही थी। महिला का पति सऊदी अरब में इंजीनियर है

न्यूज़ नेटवर्क समूह उत्तर प्रदेश 18 के अनुसार मेरठ के मवाना की रहने वाली नाज़िश बेगम पांच अक्टूबर को अपने पति के पास दुबई जा रही थी। नाज़िश बेगम के अनुसार उसकी फ्लाइट सुबह साढ़े दस बजे की थी और वह समय से पहले ही एयरपोर्ट पहुंच गई थी और उसे बोर्डिंग पास भी मिल गया था. बोरडिंग पास मिलने के बाद जेट एयरवेज़ के कर्मचारियों ने सामानों की चेकिंग में काफी समय बर्बाद कर दिया, जिसकी वजह से उसकी फ्लाइट छूट गई।
उस संबंध में जब जेट एयरवेज़ के प्रवक्ता से संपर्क किया गया तो उसने दावा किया कि यात्रा में देरी इसलिए हुई क्योंकि एयरपोर्ट प्राधिकरण को उसके बैग में कुछ प्रतिबंधित पदार्थ मिला। प्रवक्ता के अनुसार यात्री को अगली उड़ान की पेशकश की गई, लेकिन उसने मना कर दिया।

उधर नाज़िश बेगम ने जेट एयरवेज़ के दावे को झूठा करार देते हुए बताया कि मेरी फ्लाइट छूट जाने के बाद मुझे जेट अधिकारियों द्वारा दूसरी फ्लाइट का वादा किया गया, लेकिन किसी भी अधिकारी ने एयरलाइन के वादे को पूरा नहीं किया, बल्कि मुझे कहा गया कि आप जाइए और दूसरी टिकट बुक कीजिए।

नाज़िश ने अधिकारियों पर आरोप लगाया कि उनसे परेशान करने वालों ने कई सवाल भी पूछे उधर नाज़िश के पति मुहम्मद महबूब ने जेट एयरवेज़ से बिना शर्त माफी मांगने और क्षतिपूर्ति की मांग की है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें