beard

कोहराम न्यूज़ के लिए वसीम अकरम त्यागी की रिपोर्ट के अंश 

जिस इमारत को शिक्षा का मंदिर कहा जाता हो और वहां से किसी छात्र सिर्फ इसलिये निकाल दिया गया हो क्योंकि वह दाढ़ी रखना चाहता है तो क्या वह संस्थान शिक्षा का मंदिर कहलाने का हक रखता है ? कॉलेज प्रशासन को समस्या दाढ़ी से है या दाढ़ी रखने वाले छात्र से ?

मध्यप्रदेश में एक छात्र को दाढ़ी रखने की कीमत परीक्षा में न बैठकर चुकानी पड़ी है। मध्य प्रदेश में बड़वानी ज़िला के अरिहन्त होमियोपैथिक मेडिकल कॉलेज से दाढ़ी रखने की कारण एक छात्र को कॉलेज से निकाल दिया गया है। छात्र मोहम्मद असद ख़ान का आरोप है कि कॉलेज प्रशासन की ओर से दाढ़ी रखने के ‘जुर्म’ में उन्हें बार-बार परेशान किया जा रहा था। उन्हें इस बात की भी चेतावनी दी गई कि जब तक तुम दाढ़ी कटाकर नहीं आओगे तब तक कैंपस में तुम्हें आने की इजाज़त नहीं दी जाएगी। जब असद ने कॉलेज के इन बातों को नहीं सुना तो उसके बाद कहा गया कि दाढ़ी की वजह से तुम परीक्षा फार्म नहीं भर पाओगे, इसलिए तुम हमारा कॉलेज छोड़ दो। असद का यह भी आरोप है कि वो इस मामले को लेकर वो बड़वानी ज़िला कलेक्टर के पास गए। (विडियो देखे )

कलेक्टर ने उन्हें एसडीएम कार्यालय भेज दिया। अब वो लगातार दो महीनो से एसडीएम कार्यालय का चक्कर लगा रहे हैं। कोई कुछ भी सुनने को तैयार नहीं है। समाधान के नाम पर प्रशासन की तरफ़ से सिर्फ़ टाल-मटोल किया जाता रहा है। फिर उन्होंने तंग आकर बड़वानी कलेक्टर को 4 दिसंबर को एक और आवेदन सौंपा और इंसाफ़ की गुहार लगाई, पर यहां से भी उन्हें निराशा ही हाथ लगी। ऐसा पहली बार नही है कि दाढ़ी को लेकर किसी कॉलेज ने आपत्ती जाहिर की हो, इससे पहले इसी साल जुलई में उत्तर प्रदेश के मऊ मे भी मुस्लिम छात्र दाढ़ी रखने के कारण कॉलेज मे दाखिला देने से मना कर दिया गया। इसी साल सितंबर में कालीकट विश्विद्यालय के सेंटर फॉर फिजिकल एजुकेशन के छात्रों ने क्लास का बहिष्कार कर दिया था। (नीचे विडियो में कॉलेज प्रशासन से हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग सुने )

छात्रों का कहना था कि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने एक मुस्लिम छात्र मोहम्मद हिलाल को दाढ़ी रखने की अनुमति दे दी है जो फिजिकल एजुकेशन के कोड के विरुद्ध है। कालीकट यूनिवर्सिटी में दाढ़ी के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले अधिकतर छात्र मुस्लिम ही थे उनका कहना था कि लगभग सभी फिजिकल इंस्टीट्यूट्स में दाढ़ी शेव करने का प्रचलन है। इसके अलावा बॉक्सिंग, कुश्ती जैसे खेलों में भी दाढ़ी नहीं रखी जा सकती।

Phone Recording

muslim-student-torture-over-beard-india-mp


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE