मुरादाबाद। पिछले एक सप्ताह से अधिक समय से जारी शीत लहर और कोहरे ने आमजन जीवन को खासा प्रभावित किया है। सबसे ज्यादा बुरा हाल फूटपाथ पर रहने और बेसहारा लोगों का है। जो खुले आसमान के नीचे कागज या कूड़ा जलाकर ठंड से लड़ने की जद्दोजहद कर रहे हैं। चूंकि शासन से भी अलाव और कम्बल बांटने के आदेश भी हो गए थे, लेकिन ठंड की रफ्तार के मुकाबले राहत की रफ्तार धीमी रही। जिससे इन बेसहारों की मुसीबतें बढ़ गयी है।

अब इन्हीं समस्याओं को देखते हुए शनिवार आधी रात खुद डीएम जुहैर बिन सगीर निकल पड़े और शहर भर सड़क पर सो रहे लोगों को ना सिर्फ कंबल बांटे बल्कि उनके रैन बसेरों में भी भिजवाने का काम करवाया। साथ ही सरकारी रैन बसेरों में पहुंचकर हालात जांचे और कर्मचारियों को लगातार यहां व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए।
दिसम्बर के पहले से सप्ताह से ठंड का प्रकोप जारी है। जो अगले कुछ दिनों तक यूं ही जारी रहने की उम्मीद है। वहीं ठंड से लोगों के नुकसान को भांपते हुए खुद डीएम ने पहल की और आधी रात में एडीएम सिटी अरुण कुमार श्रीवास्तव के साथ शहर में निकल पड़े और जहां भी उन्हें सड़क किनारे लोग बिना रजाई या कम्बल के मिले, उसे ओढ़ाते गए। वहीं उन्होंने शहर में रैन बसेरों की भी हालत देखी और अधिकारियों को यहां पर्याप्त मात्रा में अलाव और कम्बल आदि रखवाने को कहे ताकि किसी भी गरीब को दिक्कत न हो।

वहीं डीएम ने इस सम्बन्ध में सभी तहसीलों में एसडीम को भी निर्देश दिए हैं कि जो भी बेसहारा ठंड में नजर आए या उनके पास आए, उसे रैन बसेरों में ठहराया जाए। ताकि ठंड से किसी को नुकसान ना हो। साथ ही कहीं से शिकायत या लापरवाही मिलने पर कार्रवाई की भी बात कही है।

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE