नगर निगम कर्मचारियों ने नगर निगम के कागजों में पाकिस्तान की पूर्व विदेश मंत्री हिना रब्बानी और पाकिस्तान की ही चर्चित पत्रकार मेहर तरार के नाम सहारनपुर में मकान दर्ज हो गया। दोनों मकानों के असली मालिक के शिकायत करने पर मामला उजागर हुआ। तब मुख्य कर निर्धारण अधिकारी ने खुद दोनों मकानों का सत्यापन किया। इस सिलसिले में संग्रहकर्ताओं को निलंबित कर दिया गया है। नगरायुक्त ने कर अधीक्षक के खिलाफ कार्रवाई के लिए शासन को लिखा है। पूरे मामले पर जांच बैठा दी गई है।

सहारनपुर में हिना रब्बानी और मेहर तरार के नाम मकान

नगर निगम पिछले सात माह से शहर के मकानों का सर्वे करा रहा है। इसके तहत नागरिक अपने मकान का खुद मूल्यांकन करके कर विभाग में आवेदन जमा कर सकते हैं। चौधरी विहार स्थित एक मकान के किराएदार फैजान ने दो मकानों पर टैक्स लगाने के लिए आवेदन पत्र भरकर निगम में जमा कर दिया। एक आवेदन में पाकिस्तान की पूर्व विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार और दूसरे में पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार का नाम और फोटो लगाया। दोनों के पति के नाम बदल दिए गए।   आवेदन प्राप्त होने के बाद दो कर संग्रहकर्ताओं ने आवेदन में दर्ज विवरण का आईडी से मिलान नहीं किया और आवेदन को सत्यापित कर दिया। अब हिना रब्बानी और मेहर तरार के नाम से हाउस टैक्स पहुंचने के बाद मकान मालिक रहीम खान ने नगर निगम में शिकायत की। तब मुख्य कर निर्धारण अधिकारी डीएम कटियार ने मकानों का दोबारा सत्यापन किया। सत्यापन में दोनों के नाम का कोई पहचान पत्र नहीं मिला। इस मामले में कर संग्रहकर्ता आलोक कुमार और यशपाल को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। पूरे मामले की जांच अपर नगरायुक्त सच्चिदानंद सिंह को सौंप दी है।

किराएदार ने शरारत करके पाकिस्तान की पूर्व विदेश मंत्री हिना रब्बानी तथा पत्रकार मेहर तरार के नाम से हाउस टैक्स जारी करा लिया। सत्यापन में लापरवाही करने पर दो कर संग्रहकर्ताओं को निलंबित कर दिया गया है। कर अधीक्षक के खिलाफ कार्रवाई के लिए शासन को अवगत कराया गया है। (liveindiahindi)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें