लखनऊ। दोबारा यूपी फतह करने की तैयारियों में जुटी समाजवादी पार्टी ने एक और कार्ड खेला है। इस बार सपा ने अपनी महिला विंग को काफी मजबूत किया है। खास बात है कि परिवार की महिलाओं ने इस विंग को मजबूत करने का जिम्मा उठाया है।

इस बार समाजवादी पार्टी में कुछ अलग होने जा रहा है। पार्टी ने इस बार परिवार की बहुओं पर जोर आजमाया है। जहां अपर्णा यादव को भी पार्टी ने टिकट दिया है तो वहीं परिवार की नई नवेली बहु राजलक्ष्मी को भी टिकट देने की संभावना है। माना जाता है कि अपर्णा पहले से हीं राजनीति में आना चाहती थीं तो इस बार उनकी इच्छा पूरी कर दी गई। वहीं, राजलक्ष्मी की शादी यादव परिवार में चंद दिनो पहले मुलायम के छोटे भाई शिवपाल के बेटे आदित्य से हुई थी। राजलक्ष्मी का ताल्लुक पहले से हीं किसी अच्छे राजनीतिक परिवार से है। कहा जाता है कि ये शादी एक तरह का पॉलिटिकल अलायंस है।

सीएम अखिलेश की पत्नी डिंपल तो पहले से ही सियासी मैदान में अपना झंडा गाड़ चुकी हैं। डिंपल 2014 में कन्नौज से सांसद चुनी गई। उससे पहले कन्नौज सीट से हुए उपचुनाव में डिंपल निर्विरोध सांसद चुनी गई थीं। हालांकि उससे पहले उन्हें फिरोजाबाद से राज बब्बर के हाथों शिकस्त खानी पड़ी थी।

सपा को लगता है कि इन तीनों को सक्रिय राजनीति में लाने से महिलाओं को पार्टी अपनी तरफ आकर्षित कर पाएगी। पार्टी को इस बात का अंदाजा है कि अगर महिलाओं को अगर अपने पक्ष में करने में सफल होती है तो ये उसके लिए यूपी में गेम चेंजर हो सकता है। खैर देखना है कि यादव परिवार की बहु ब्रिगेड सपा को अगले चुनाव में बहुमत का आंकड़ा पार करा पाती है या नहीं। (indiavoice)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें