इटावा। खबरदार, अगर दहेज लिया तो हुक्का पानी बंद कर दिया जायेगा और घर में किसी की मौत पर उसकी जनाजे की नमाज तक अदा न की जायेगी। इसलिए गांव के मुस्लिम अब इन बुराइयों से दूर रहें।

nikah_paper_signing

प्रदेश के विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पांडेय के गांव पिरैला के मुसलमानों ने दहेज जैसी खतरनाक बीमारी पर रोक लगाने के किए यह कठोर कदम उठाया है। गांव की कमेटी अजुंमन रजाए मुस्तफा ने एलान किया है कि अगर कोई मुसलमान दहेज की फरमाइश करता है, तो उस के घर पर कोई मुसलमान ना तो खाना खाऐगा और न ही उसके घर के किसी शख्स की नमाजे जनाजा में शरीक होगा।

इसके एलावा अंजुमन रजाए मुस्तफा कमेटी ने ये भी पाबंदी लगायी है कि जिस मुस्लमान के घर शादी होगी वह अपने घर शादी में डीजे और नाच से दूर रहेगा, वरना पूरे गांव वाले उस के यहां खाने पीने बायकाट कर देंगे। उससे कोई सामाजिक सरोकार नहीं रखेंगे।

इस की जानकारी देते हुए कमेटी के मैनेजर अनवारुल्लाह ने बताया कि इससे हमार मकसद सिर्फ और र्सिफ अमीर और गरीब के दरमियान जो दूरी है उसको खतम करना है। साथ ही आए दिन जहेज के लिए जलाई जा रही हमारी बहनों का हिफाजत करना है।

उन्होंने कहा कि आज समाज में बुराई आम हो चुकी है। कमजोरों पर जुल्म बढती जा रही है। शादियां महंगी होने की वजह से गरीब बहन और बेटियों की शादी नहीं हो रही है। इस लिए एक बैठक करके इस का फैसला लिया गया है।

बैठक में मोहम्मद रईस, कमेटी अध्यक्ष बहरैची, मोस्टर अब्दुल अजीज, सेराजुददीन उर्फ पारले बाबा, शफातुल्लाह आदि शामिल रहे। अंजुमन के इस कड़े फैसले की इटवा इलाके में बहुत चर्चा है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें