नई दिल्ली:  इन दिनों जहां भारत-पाकिस्तान के रिश्ते में तनातनी का माहौल है। टी-20 विश्व कप में भारत-पाकिस्तान के बीच खेले जाने वाले मैच को लेकर भी संशय के बादल मंडरा रहे हैं। वहीं इन सब के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पाकिस्तान आने का न्यौता मिला है और केजरीवाल ने इस न्यौते को स्वीकार कर लिया है

अरविंद केजरीवाल को कराची लिटरेचर फेस्टिवल 2017 के लिए पाकिस्तान से न्यौता आया है और केजरीवाल ने उस न्यौते को स्वीकार कर लिया है। यह फेस्टिवल अगले साल फरवरी में होना है।

यह वही लिटरेचर फेस्टिवल है जिसमें शामिल होने के लिए इस साल अनुपम खेर को वीजा नहीं मिला जिसके बाद काफी विवाद हुआ था। विवाद की वजह ये थी कि अनुपम के साथ ही करीब 18 अन्य लोगों को कराची से न्यौता मिला था लेकिन एक मात्र अनुपम खेर को ही वीजा नहीं दिया गया था।

इस पर अनुपम ने कहा था कि शायद वो कश्मीरी पंडित हैं और कश्मीरी पंडितों के दर्द पर हमेशा बोलते रहे हैं इसी वजह से उन्हें वीजा नहीं दिया गया होगा। इसके साथ ही अनुपम खेर ने ये भी दावा किया था कि वो भारत सरकार के पक्ष में बोलते हैं इसलिए भी उन्हें वीजा नहीं दिया गया।

वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान उच्चायोग का दावा था कि अनुपम खेर ने वीजा के लिए आवेदन ही नहीं किया था ‌जिसकी वजह से उन्हें वीजा न देने का कोई सवाल ही नहीं उठता है, अगर वो अप्लाई करते तो उन्हें वीजा दिया जाता। (indiavoice)

English Summary

Kejiriwal got an invitation to visit Pakistan and he has accepted that invitation, he got invitation for the 2017 Karachi literature festival and he has accepted it.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें