मुंबई | देश में एटीएम इस्तेमाल करने वाले वालो के लिए एक बुरी खबर है. देश के 32 लाख डेबिट कार्ड धारको की सूचना चोरी होने की आशंका जताई जा रही है. यही नही एसबीआई ने अपने 6 लाख ग्राहकों के डेबिट कार्ड ब्लाक कर दिए है. यह देश के वित्तीय आंकड़ो की सुरक्षा में अब तक की सबसे बड़ी चोरी है. आरबीआई ने इस मामले का संज्ञान लेते हुए सभी बैंकों को इसकी सूचना आरबीआई को देने का आदेश दिया है.

मिली जानकारी के अनुसार 32 लाख में से 26 लाख वीजा/मैस्ट्रो कार्ड और 6 लाख रुपे कार्डों की डिटेल चोरी हुई है. इस घटना से जो बैंक सबसे ज्यादा प्रभावित है उनमे एसबीआई, एस बैंक, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई और एक्सिस बैंक शामिल है. खबर है की एटीएम में मौजूद मालवेयर की वजह से ये डिटेल चोरी हुई है. हैकर ने इन डेबिट कार्ड के नम्बर और पिन चोरी कर लिए है.

सूत्रों के अनुसार हिताची पेमेंट सर्विस के एटीएम में इस तरह के मालवेयर डाले गए जिससे डेबिट कार्ड की डिटेल चोरी हो सके. हिताची पेमेंट सर्विस एस बैंक के एटीएम को संचालित करती है. लेकिन एस बैंक के साथ साथ उन बैंक के डेबिट कार्ड डिटेल भी चोरी हो गए जिन्होंने इन एटीएम का इस्तेमाल किया. हालांकि पूरे देश में हिताची पेमेंट सर्विस के एटीएम बहुत कम है.

उधर हिताची ने इन आरोपों का खंडन करते हुए कहा की हमारे सभी एटीएम सुरक्षित है , हमने अपने सभी एटीएम की जांच की है और इनमे कोई मालवेयर नही मिले है. उधर एस बैंक ने दलील दी है की उसके सभी एटीएम सुरक्षित है. सूत्रों के अनुसार इस तरह की घटना सबसे पहले जुलाई में सामने आई थी. खबर है की चीन में ऐसे कार्ड का अनाधिकृत इस्तेमाल होने के बाद , इस बारे में बैंकों की नींद खुली.

उधर एसबीआई ने 6 लाख डेबिट कार्ड को ब्लाक करने का फैसला किया है. बैंक चाहे कितना भी मना करते रहे लेकिन एसबीआई का यह कदम इस खबर की स्वयं पुष्टि करता है. हिताची के एम्डी ने लोगो से अपील की है की वो अपने एटीएम का पिन जरुर बदल ले. आरबीआई के अनुसार पूरे देश में लगभग 60 करोड़ लोग डेबिट कार्ड इस्तेमाल करते है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें