लखनऊ।  आरटीआई के तहत सूचना मांगने गए एक मुस्लिम युवक को आतंकी करार दे दिया गया है। मामला उत्तर प्रदेश के गाजीपुर ज़िले का है। CRPF की भर्ती में अयोग्य करार दिए जाने पर शम्स तबरेज़ ने कारण जानना चाहा था। इसपर CRPF अधिकारियों ने कहा, “आप मुसलमान हैं, जो आतंकियों का धर्म है। लिहाजा सुरक्षा कारणों से आपको जानकारी नहीं दी जा सकती।”

एक न्यूज़ पोर्टल के अनुसार गाजीपुर के दिलदारनगर थाना क्षेत्र के उसिया गांव में रहने वाले युवक शम्स तबरेज ने 2010 में निकली सीआरपीएफ रिक्रूटमेंट में सिपाही/कांन्सटेबल के पोस्ट के लिए अप्लाई किया था लेकिन मेडिकल टेस्ट में वह फेल हो गए।
फेल होने का कारण जानने के लिए शम्स तबरेज ने सीआरपीएफ डीजी हेडक्वॉर्टर में 2013 में पहली और दिसंबर 2015 में दूसरी आरटीआई फाइल की। कोई जवाब नहीं मिलने पर साल 2015 में ही होम मिनिस्ट्री को लेटर लिखा। होम मिनिस्ट्री ने सीआरपीएफ डीजी हेडक्वॉर्टर दिल्ली को सूचना देने के निर्देश दिए, वहां से लेटर लखनऊ सीआरपीएफ ऑफिस भेजा गया।
इसके बाद लखनऊ सीआरपीएफ ने इलाहाबाद सीआरपीएफ को लेटर पास कर दिया। आरटीआई के तहत सूचना 4 फरवरी को मिली, लेकिन मामले का खुलासा अब हुआ है।
वहीं मुख्य सूचना आयुक्त (सीआईसी) जावेद उस्मानी ने कहा, ‘अभी मेरी नॉलेज में नहीं है। चूंकि सीआरपीएफ केंद्र सरकार की इकाई है, इसलिए जवाबदेही उनकी है। (siasat)

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें