वक्फ की जमीनो को लेकर सपा नेता आज़म खान पर घोटाले करने और उनकी जांच का दावा करने वाले योगी सरकार के मंत्री मोहसिन रजा खुद अब वक्फ की जमीन घोटाले में घिर गए है. उन पर 2010 में पावर ऑफ अटॉर्नी अपनी मां जाहिदा बेगम के नाम पर उन्नाव के सफीपुर के मुख्य बाजार की वक्फ की जमीन बेचने का आरोप है.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार, सफीपुर में वक्फ की लगभग 505 गज जमीनें तीन बार में बेंची जा चुकी है. अब इन जमीनों पर दुकाने भी बन चुकी हैं. इन जमीनों को 27.12.2005, 9.08.2006 और 29.03.2011 को बेचा गया. जमीन की कीमत लगभग दो करोड़ से ज्यादा हैं.

और पढ़े -   देशभक्ति के झूठे प्रमाण-पत्र बांट कर देशभक्ति की व्याख्या बदलने की कोशिश: तुषार गांधी

ये जमींन 1937 में अलिया बेगम ने वक्फ की थी. तब से मोहसिन रजा का परिवार इस वक्फ की जमीनों की देखरेख कर रहा था. ये पूरा मामला सामने आया मसरूर हसन जो कि सफीपुर के ही निवासी हैं उनके द्वारा वक्फ बोर्ड को शिकायत करने के बाद सामने आया है.

बोर्ड की जांच की गई, जिसमें इन्हें और इनके परिवार को दोषी पाया गया है. इनको बोर्ड के समक्ष अपना पक्ष रखने के लिए 13.01.16 नोटिस दिया गया. लेकिन उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया. हालांकि उनके चाचा ने अपने जवाब में बताया कि ये वक्फ की जमीने नहीं हैं, इसलिए इन पर कोई कार्रवाई न की जाए.

और पढ़े -   बीजेपी महिला नेता ने मुस्लिम लड़के के साथ दिखने पर हिन्दू लड़की को पीटा

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE