योगी सरकार की कर्जमाफी या मजाक! किसी के 10 तो किसी के 38 रुपये हुए माफ

लखनऊ: किसानों की कर्जमाफी का वादा कर सत्ता में आई योगी सरकार ने प्रदेश के अन्नदाताओं के साथ छल किया है. कर्जमाफी के नाम पर किसानों के साथ खेल खेला जा रहा है.

योगी सरकार के वादे के मुताबिक़ फसल ऋणमोचन योजना के तहत लघु और सीमांत किसानों के एक लाख रुपये तक के कर्ज माफ होने थे. लेकिन किसानों को महज 10 रुपये, 38 रुपये, 221 रुपये और 4000 रुपये के कर्जमाफी का प्रमाण पत्र सौंपा गया.

प्रमाण पत्र सामने आने के बाद कुछ किसानों ने मीडिया से बात की. उन्ही में से एक किसान ने बताया कि उस पर 60 हजार का कर्ज है, लेकिन जो प्रमाण पत्र उसको मिला उसमें मात्र 38 रुपए ही माफ किए गए.

वहीं एक अन्य किसान ने बताया कि उसने फसल बोने के नाम पर बैंक से 1 लाख रुपये कर्ज़ लिया था, लेकिन जो ऋणमाफी का प्रमाण पत्र दिया गया है, उसमें 10.36 रुपये का कर्ज माफ है.

दूसरे किसान यूनुस खान, जिसने 60 हजार रुपये बीज और खाद के लिए कर्ज लिया था, उसे जो कर्ज़ माफी का प्रमाणपत्र सौंपा गया, उसमें महज 38 रुपये की कर्ज़ माफी की गई है.

कर्जमाफ़ी का हाल


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE