गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज अस्पताल में बच्चों की मौतों का सिलसिला रुकने का नाम नहीं ले रहा है. पिछले 24 घंटो में 10 और बच्चों की मौतों का मामला सामने आया है.

कॉलेज के प्राचार्य डॉ पीके सिंह ने बताया कि पीडियाट्रिक वार्ड के एनआईसीयू में 17 बच्चे तथा पीआईसीयू में 32 बच्चे भर्ती किए गए. जिनमे से 10 बच्चों की मृत्यु हो गई. इसमें से एक बच्चा इंसेफ्लाइटिस का शामिल था.

और पढ़े -   बीजेपी महिला नेता ने मुस्लिम लड़के के साथ दिखने पर हिन्दू लड़की को पीटा

इसके साथ ही मेडिकल कालेज में इस वर्ष मरने वाले बच्चों की संख्या बढकर 1351 हो गई. ध्यान रहे इससे पहले ऑक्सीजन की कमी से 70 से ज्यादा बच्चों की मौत होने से पूरा देश हिल गया था.

मेडिकल कालेज के ​प्राचार्य सिंह ने बताया कि विभिन्न वार्डों में तीन सितंबर को नौ बच्चों की मौत हुई जबकि चार सितंबर को 15 अन्य बच्चों की मृत्यु हुई.

और पढ़े -   गिरफ्तारी से बचने के लिए स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी अस्पताल में भर्ती, बलात्कार का है आरोप

उन्होंने दावा किया कि बीआरडी मेडिकल कालेज में सुविधाओं को सुधारने के लिए हरसंभव प्रयास किये जा रहे हैं. सरकार ने 24 नये ”वार्मर” मुहैया कराये हैं जो नवजात शिशुओं के लिए उपयोग में आते हैं.

इसके अलावा बेहतर चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराने के मकसद से मेडिकल कालेज में नये डॉक्टर भी आए हैं. उन्होंने बताया कि इनमें दस जूनियर रेजीडेंट, सात मेडिकल अफसर और एक प्रोफेसर शामिल हैं.

और पढ़े -   मदरसे के पानी में जहर मिलाने की घटना थी पूर्व नियोजित: सलमा अंसारी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE