सांसद महंत आदित्यनाथ ने सेक्युलरिज्म के नाम पर राष्ट्र की सुरक्षा एवं संप्रभुता के साथ खिलवाड़ पर कड़ा ऐतराज जताया है। उन्होंने कहा कि जो लोग देश की सुरक्षा, संविधान और आस्था से खिलवाड़ कर रहे लोगों के साथ सख्ती से निपटने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि सेक्युलरिज्म के नाम पर हिंदू और भारत विरोधी तत्वों को बेनकाब किया जाए। महंत आदित्यनाथ जेएनयू में अफजल के समर्थन में नारेबाजी पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे थे।

yogi_650_082615050543

उन्होंने कहा कि देश के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय जेएनयू में अफजल के समर्थन में छात्र यूनियन के नेतृत्व में जो घटना हुई, वह न केवल निंदनीय है, अपितु शर्मनाक भी है।

भारत सरकार के अनुदान पर चलने वाले किसी भी शिक्षण संस्थान में ऐसी घटना चिंताजनक है। उन्होंने कहा कि अफजल के नाम पर घड़ियाली आंसू बहाने वाले तत्व न केवल देश द्रोह का कार्य कर रहे हैं, बल्कि आतंकवाद का समर्थन भी कर रहे हैं।

ऐसी घटना को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। सांसद ने कहा कि किसी भी शिक्षण संस्थान में योग्य एवं राष्ट्रभक्त नागरिक पैदा होने चाहिए, पर जेएनयू जैसे संस्थान में जो हो रहा है, वह उसकी विश्वसनीयता पर सवाल है।

उन्होंने कहा कि इशरत जहां के बारे में हेडली का बयान देश की सेक्युलर राजनीति से पर्दा उठा देता है। साथ ही उसकी देश विरोधी गतिविधियों को भी उजागर करता है।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें