साल 2007 के गोरखपुर दंगा मामले में उत्तर प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर मुकदमा चलाने से इनकार कर दिया है.

इस मामले को लेकर इलाहाबाद हाई कोर्ट के जारी आदेश पर यूपी सरकार से पुछा था कि क्या योगी आदित्यनाथ पर मुकदमा चलाया जाए. इसके जवाब में यूपी सरकार ने मुकदमा चलाने से मना कर दिया है. दरअसल इस मामलें में गोरखपुर के पत्रकार परवेज परवाज और सामाजिक कार्यकर्ता असद हयात ने याचिका दायर की इस मामले की जांच सीबीआई या दूसरी स्वतंत्र एजेंसी कराने की मांग की थी.

27 जनवरी 2007 को गोरखपुर में हुए सांप्रदायिक दंगे में अल्पसंख्यक समुदाय के खिलाफ योगी आदित्यनाथ पर भडकाऊ भाषण देने का आरोप हैं.  इस दंगे में अल्पसंख्यक समुदाय के दो लोगों की मौत हुई थी और कई लोग घायल हुए थे.

पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक यह दंगा मुहर्रम पर ताजिये के जुलूस के रास्तों को लेकर था. इस मामले में योगी आदित्यनाथ समेत  विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल और उस वक्त की मेयर अंजू चौधरी के खिलाफ सीजेएम कोर्ट के आदेश पर मुकदमा दर्ज किया गया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE