यूपी की अखिलेश सरकार मोदी कैबिनेट के केंद्रीय मंत्री रमाशंकर कठेरिया के खिलाफ दर्ज पांच मुकदमे वापस लेने जा रही हैं। आगरा से सांसद रमाशंकर कठेरिया मोदी सरकार में मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री हैं। उनके खिलाफ यूपी में  2010 और 2011 के बीच नेशनल हाईवे जाम करने, समाज का माहौल बिगाड़ने, सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने जैसे तीन मुकदमे दर्ज किए गए थे

और पढ़े -   देश की एकता और अखंडता खतरे में, हर तरफ दलितों और मुसलमानों पर हो रहे हमले

ये मुक़दमे मायावती सरकार के दोरान दर्ज किये गए थे और 2013 में अखिलेश यादव सरकार ने भी उनके खिलाफ दो आपराधिक मामले दर्ज किए थे। अब अखिलेश यादव सरकार ने इन पांचों मुकदमों को वापस लेने का फैसला किया है।

बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने कहा कि इस मामले से ये स्पष्ट हो जाता है कि भाजपा और एसपी दोनों अंदर ही अंदर मिले हुए हैं, एक-दूसरे की मदद कर रहे हैं। यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष निर्मल खत्री ने कहा कि यूपी सरकार का रवैया बीजेपी के खिलाफ हमेशा नरम रहा है। मोदी और एसपी सरकार मिल-जुलकर काम कर रही हैं। वहीं कांग्रेस नेता राज बब्बर ने कहा कि यह बीजेपी और एसपी की सांठगांठ है। न उसे इस मामले मे सजा देनी थी और न ही वो देती।

और पढ़े -   कर्नाटक - बीजेपी नेता येदियुरप्पा ने दलित के घर होटल से मंगाकर खाया खाना

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE