बिहार में शराब का सितम लगातार जारी है. शराब छोड़ने के कारण महज दो दिनों के अंदर दो लोगों की मौत हो गई है जबकि कई लोग अभी नशा मुक्ति केंद्र का रूख कर रहे हैं. बुधवार की देर रात सासाराम में बीएमपी के जवान ने शराब छोड़ने के गम में जहर खा कर जान दे दी तो मोतिहारी में भी एक पुलिस जमादार ने शराब छोड़ने की कोशिश में दम तोड़ दिया.

शराब से जुदाई बर्दाश्त नहीं कर पा रहे पुलिसवाले, अब ASI ने भी तोड़ा दम

मामला पूर्वी चंपारण जिले के कुंडवा-चैनपुर थाने में पदस्थापित जमादार रघुनंदन बेसरा की मौत से जुड़ा है. रघुनंदन की मौत इलाज के दौरान गुरुवार को ही हो गयी. पिछले मंगलवार को ढाका में अचानक तबीयत खराब होने से वे बेहोश होकर गिर पड़े थे.उनका इलाज पीएमसीएच में चल रहा था.

इलाके के डीएसपी बमबम चौधरी ने बताया कि मृत जमादार पूर्णिया जिले के रहनेवाले थे. जानकारी के मुताबिक उन्होंने दो महीने पहले ही शराब पीना छोड़ दिया था जिसके बाद से वो बीमार चल रहे थे. ढाका के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी का कहना है कि वे पहले शराब का सेवन करते थे ऐसे में अचानक शराब छोड़ देने के कारण ऐसा हुआ है. (pradesh18.com)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें