अवैध बताकर बूचड़खाने पर की गई करवाई के बारें में प्रदेश की योगी सरकार ने इलाहाबाद हाईकोर्ट को बताया कि अब राज्य में वैध बूचड़खाने बंद नहीं किए जाएंगे.

प्रदेश सरकार की पैरवी करने के लिए हाजिर हुए एडवोकेट जनरल रघुवेंद्र प्रताप सिंह ने इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच से कहा कि आम लोगों को ताजा मांस उपलब्ध हो इसके लिए अवैध बूचड़खानों पर पाबंदी लगाई गई है. जो लोग कानून और नियम के तहत लाइसेंस मांगेंगे उन्हें लाइसेंस दिया जाएगा.

और पढ़े -   देहरादून: मिशन 2019 से पहले बीजेपी को बड़ा झटका, छात्रसंघ चुनाव में एबीवीपी का सूपड़ा साफ

जस्टिस अमरिशवर प्रताप शाही और जस्टिस संजय हरकोली की खंडपीठ ने सईद अहमद और अन्य की ओर से दायर की गई याचिकाओं पर आज यह आदेश दिया.

याचिका में मांग की गई है कि मांस की दुकानों के लाइसेंस का नवीकरण किया जाए और नए लाइसेंस जारी किए जाएं. इस मामलें में अगली सुनवाई की तारिख 9 मई को होगी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE