स्लाटर हाउस चालू नही होने पर ऑल इंडिया कुरैशी विकास मंच और भाकपा माले ने सोमवार को वाराणसी में विशाल प्रदर्शन आयोजित किया गया. इस दौरान योगी सरकार को साफ़ लफ्जों में चेताते हुए कहा गया कि यदि रमजान से पहले प्रदेश सरकार ने बंद किए गए स्लाटर हाउस नहीं शुरू कराए तो वे कानून तोड़ कर अब स्लाटर हाउस चालू करेंगे.

प्रदर्शन के बाद डीएम को सोंपे ज्ञापन में कहा गया कि स्लाटर हाउस बंद हो जाने से प्रदेश के 25 लाख लोगों के समक्ष रोजगार का संकट उत्पन्न हो गया है. बावजूद इसके कोर्ट के आदेशों की अवमानना करते हुए प्रदेश सरकार स्लाटर हाउस के नवीनीकरण का आदेश जारी नही कर रही है. हाईकोर्ट ने अपने निर्देश में साफ़ कहा है कि मांसाहार को रोका नहीं जा सकता है.

ज्ञापन में कहा गया कि मटन और मुर्गा व्यवसाय भी एनजीटी के मानकों के अनुरुप नहीं है लेकिन उसे चलने दिया जा रहा है. इसी तरह से भैंस के मीट के कारोबार को चलने की अनुमति दी जाए. साथ स्लाटरिंग की वैकल्पिक व्यवस्‍था की जाए.

मीट कारोबारियों ने कहा कि रोजगार उनका संवैधानिक अधिकार है. इस बंदी के कारण लोग भुखमरी के शिकार हो रहे हैं. उन्होंने मांग की कि छोटे दुकानदारों को बड़े व्यवसायियों की तरह सब्सिडी दी जाए. इस प्रदर्शन में पूर्वांचल के लगभग सभी जिलों के मीट कारोबारियों ने हिस्सा लिया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE