पत्रकारिता से राजनीति में आए यूपी बीजेपी नेता शलभमणि के खिलाफ राजघाट थाने में मॉडल कोड ऑफ़ कंडक्ट के उल्‍लंघन के मामले में धारा 188 और 171एच के अर्न्‍तगत एफआईआर दर्ज की गई.

शलभमणि पर आरोप है कि उन्होंने 6 जनवरी को गोरखपुर के निर्मल चौराहे के पास एक मैरिज हाउस में दिव्यांग बच्चों को मोबाइल फोन बांटे. इस कार्यक्रम के लिए ना तो कोई अनुमति ली गई थी और ना ही निर्वाचल अधिकारी को इसकी जानकारी दी गई थी.

और पढ़े -   दूरदर्शन और आकाशवाणी ने स्वतंत्रता दिवस पर त्रिपुरा के सीएम के भाषण नहीं किया प्रसारित

जिला प्रशासन ने कार्यक्रम को आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन मानते हुए उन्हें नोटिस भेजा था. संतोषजनक जवाब न मिलने पर प्रशासन की टीम ने राजघाट थाने में शलभ मणि त्रिपाठी, मैरेज हाउस के प्रबंधक इरफान और विनय कुमार सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है.

अधिकारियों का कहना है कि आचार संहिता के दौरान किसी भी नेता को कुछ बांटने की इजाजत नहीं दी जा सकती. शलभमणि के खिलाप धारा 188 और धारा 171 के तहत मुकदमा किया गया है..

और पढ़े -   महाराष्ट्र में देनी होगी कुर्बानी की पूरी जानकारी, BMC लाई स्पेशल 'बकरा ऐप'

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE