panch

आगरा के ताजगंज थाना क्षेत्र स्थित नारी संरक्षण गृह (शेल्‍टर होम) पंचशील आश्रम में 53 लड़कियों के बलात्कार का मामला सामने आया हैं. इन लड़कियों को विरोध करने पर बुरी तरह पीटा जाता था.

पीड़ित लड़कियों का इस बारें में  कहना है कि नहाते समय गृह में लगे सीसीटीवी कैमरे से उनका अश्‍लील वीडियो बनाया जाता था. यहां रहने वाली लड़कियों के साथ विरोध करने पर मारा-पीट होती थी. कई दिन तक कमरे में बंद करके भूखा-प्‍यासा रखा जाता था. आश्रम के संचालक डीडी मथुरिया और उनके तीनों बेटे रोज आश्रम में दारू पार्टी करते थे. इस दोरान जिस लड़की पर मन आता, उसे उठा ले जाते थे और उसके साथ बलात्कार करते थे. कभी-कभी बाहर से भी लोग आश्रम में आकर पार्टी करते और लड़कियों को अपनी हवस का शिकार बनाते थे. उनके अनुसार, इससे पहले यहां से कई लड़कियां अचानक गायब हो गई थीं, जिन्‍हें बेचे जाने की संभावना है.

गोरखपुर की लड़की रोशनी ने बताया कि आश्रम का माहौल शुरू से ही गंदा था. छोटी से लेकर बड़ी लड़कियों के साथ रेप होता था। लाली नाम की एक मूक-बधिर महिला के साथ 3 दिन तक लगातार रेप हुआ था. एक दिन वह अचानक गायब हो गई. पूछने पर हमे डांट-फटकारकर चुप करा दिया गया. विरोध करने पर आश्रम में लगे सीसीटीवी कैमरे बंद कर दिए जाते थे और हमें मारा-पीटा जाता था. कई लड़कियों की इसी चलते मौत भी हो चुकी है.

शुक्रवार को प्रशासनिक विजिट पर सिटी मजिस्ट्रेट रेखा एस चौहान आश्रम पहुंचने पर लड़कियों ने अपनी व्यथा रेखा चौहान को बताई तो उनके भी होश उड़ गए. आनन-फानन में संचालक डीडी मथुरिया के खिलाफ थाना ताजगंज में मुकदमा दर्ज कर आश्रम में रहने वाली सभी 53 लड़कियोंं को वहां से ट्रांसफर कर दिया गया. आरोपी संचालक डीडी मथुरिया राज्य बाल और महिला आयोग की कमेटी के मनोनीत सदस्य भी हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें