20161109_163813

500 और 1000 के नोटों को अवैध घोषित करने के फैसले के बाद देश में एक तरफ तो मोदी सरकार की तारीफ़ हो रही हैं वहीँ दूसरी तरफ इस अचानक लिए गये इस फैसले के कारण जानकारी के अभाव में लोगों की जान तक जा रही हैं.

उत्तरप्रदेश के कुशीनगर जिले के खबराभार गांव में जब एक महिला ने ये खबर सुनी तो वह अपनी जीवन भर की जमा पूंजी लेकर बैंक में बदलवाने पहुंची लेकिन बैंक में किसी व्यक्ति द्वारा बोल देने से कि 500-1000 के नोट अब नहीं चलेंगे, ये सुनकर वृद्धा सदमें में आ गई और मौके पर ही दम तोड़ दिया.

और पढ़े -   जानिए: चांद खान के बारे में, जो हर साल घर पर लहराते है तिरंगा

महिला की मौत पर जब प्रशासन से इस बारे में पूछा गया तो प्रशासन ने हमेशा की तरह जांच का नाम लेकर पल्ला झाड लिया. महिला का नाम तीर्थराजी देवी बताया जा रहा हैं. जो गांव में कपडों की धुलाई और प्रेस का काम करती थी.

तीर्थराजी देवी ने जीवन भर अपनी कमाई में से बचत कर कुछ रकम इकट्ठी की थी. इसी बीच कल शाम उन्हें पता चला कि सरकार ने पुराने नोट बंद कर दिए हैं. इस पर सुबह उठते ही तीर्थराजी देवी 1000 के चंद नोट लेकर बदलने सेंट्रल बैंक की शाखा पर पहुंची थी.

और पढ़े -   यूपी के बाद अब एमपी में स्वतंत्रता दिवस पर मदरसों की फोटोग्राफी के आदेश

तीर्थराजी देवी को वहां जाकर पता चला कि बैंक बंद है. इसी बीच उनके हाथ में नोट देख किसी ने कह दिया कि “ये तो अब बेकार हो गए हैं नहीं चलेंगे. यह सुनकर उन्होंने मौके पर हो दम तोड़ दिया.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE