rashtriya-ulama-council-chief-to-contest-against-sp-supremo-mulayam_290314092700

बिहार में कामयाब होने के बाद महागठबंधन की तर्ज पर यूपी में सपा, बसपा, कांग्रेस और बीजेपी के विकल्प के रूप में एक नया महागठबंधन बना है| राजनैतिक परिवर्तन महासंघ के नाम से बने इस दल में 16 छोटी क्षेत्रीय पार्टियां शामिल हैं|इसके संयोजक राष्ट्रीय उलेमा कौंसिल के प्रेसिडेंट मौलाना आमिर रशादी मदनी को बनाया गया है|रशादी के मुताबिक पार्टी 2017 में सभी 403 सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़ी करेगी और अगर गठबंधन को बहुमत मिलता है तो मुख्यमंत्री मुस्लिम होगा|
Maulana_Aamir_Rashadi_Madni_(President_Rashtriya_Ulama_Council)
उन्होंने कहा कि सपा, बसपा, कांग्रेस और बीजेपी सभी ने प्रदेश को जात, धर्म के नाम पर लूटा है| इनके कुशासन से जनता अब तंग आ चुकी है इसलिए उसके सामने एक विकल्प के तौर पर राजनैतिक परिवर्तन महासंघ का गठन किया गया है|उन्होंने कहा कि समाजवाद के नाम पर परिवारवाद करने वाली मुलायम की पार्टी की सरकार जनता की समस्याओं से पूरी तरह से संवेदनहीन है| प्रदेश में समाजवादी सरकार ने गुंडों और माफियाओं को शह दे रखा है|

उन्होंने कहा कि देश और परदेश में अमन चैन और भाईचारा को स्थापित करने के उद्देश्य से इस महागठबंधन का गठन किया गया है|इस महागठबंधन में राष्ट्रीय उलेमा कौंसिल, राष्ट्रीय क्रन्तिकारी समाजवादी पार्टी, इन्सान राज पार्टी, भारतीय प्रजातंत्र निर्माण पार्टी, नया दौर पार्टी, देश भक्ति निर्माण पार्टी, इन्साफवादी महाज, वतन जनता पार्टी, भारतीय किसान परिवर्तन पार्टी, पिछड़ा जन समाज पार्टी, स्वर्ण समाज पार्टी और वंचित समाज इन्साफ पार्टी शामिल है|


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE