uj

भोपाल सेंट्रल जेल से कथित सिमी सदस्यों की कथित फरारी के बाद हुए एनकाउंटर के विरोध में उज्जैन के मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रख विरोध जताया. साथ ही उन्होंने इस पुरे मामले की सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज से कराने की मांग की हैं.

शहर काजी खलीकुर्रहमान के नेतृत्व में शनिवार को 5 सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल ने इस मामले को लेकर पुलिस कंट्रोल रूम में कलेक्टर संकेत भोंडवे और एसपी एमएस वर्मा को ज्ञापन सौंपा. उन्होंने कहा कि वे आतंकवाद का समर्थन नहीं करते हैं. लेकिन मारे गए युवकों का केस कोर्ट में विचाराधीन थ. ऐसे में जिस तरह से एनकाउंटर के नाम पर उन्हें मारा गया है, इसकी जांच जरूरी है.

उन्होंने आगे कहा कि यह कैसे कह सकते हैं कि मारे गए युवकों ने ही कांस्टेबल की हत्या की थी. उन्होंने सवाल उठाया कि कोई 30-32 फीट ऊंची दीवार कैसे फांद सकता है? पूरे मामले की न्यायिक जांच होनी चाहिए. वह भी सुप्रीम कोर्ट के किसी रिटायर्ड जस्टिस से. तभी दूध का दूध और पानी का पानी होगा.

शहर काजी ने कहा कि लोगों ने स्वयं अपनी मर्जी से दुकानें बंद रखी थीं. बाजार बंदी का कोई आह्वान नहीं किया था। शहर के अन्य मार्केट चालू रहे.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें