रुद्रपुर (ऊधमसिंह नगर)। भारतीय जनता पार्टी के ऊधमसिंह नगर जिला उपाध्यक्ष जगतार सिंह बाजवा कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी के खिलाफ अमर्यादित बयान देकर फंस गए हैं। उन्होंने अपने कार्यालय में जेएनयू प्रकरण पर कहा कि राहुल गांधी का सिर कलम कर जेएनयू गेट पर लटकाने वाले का मंदिर बनेगा और लोग पूजा करेंगे। उनका बयान सामने आते ही प्रशासनिक अमले में खलबली मच गई। बाजपुर पुलिस ने उनके खिलाफ राष्ट्रद्रोह के लिए उकसाने की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया है।

और पढ़े -   अब बंगाल में सामने आया गौ-आतंक का कहर, गाय चोरी के आरोप में तीन लोगों की पीट-पीट कर हत्या

भाजपा नेता बाजवा बन्नाखेड़ा के रहने वाले हैं। उनके विवादित बयान ने सियासत में भी भूचाल ला दिया है। देहरादून में खुद मुख्यमंत्री हरीश रावत ने इस बयान की निंदा की। बाजवा के खिलाफ बाजपुर थाने के इंस्पेक्टर ओपी शर्मा ने राजद्रोह के लिए उकसाने की धारा 153 वी के अलावा बलवा व जानमाल की धमकी देने की धाराओं में मुकदमा कायम कर जांच शुरू कर दी है।

और पढ़े -   रमजान में भी कश्मीर घाटी हुई खून से लाल, अब तक 42 लोगों की गई जान

बाजवा के इस बयान की ऑडियो और वीडियो रिकार्डिंग भी पुलिस तक पहुंच गई है। सूत्रों की मानें तो पुलिस इस मामले में जल्द ही बाजवा को गिरफ्तार कर सकती है।
इधर दैनिक जागरण से दूरभाष पर हुई वार्ता में भाजपा नेता बाजवा ने कहा कि उन्होंने कोई भी गलत बयान नहीं दिया है, यदि राष्ट्रद्राहियों के खिलाफ बोलना गुनाह तो उन्हें किसी भी मुकदमे का कोई भय नहीं है, क्योंकि राष्ट्र उनके लिए सर्वोपरि है और इसके लिए वह अपने प्राण भी न्यौछावर कर सकते हैं। उन्होंने स्वयं पर किसी मुकदमे की जानकारी होने से भी अनभिज्ञता जताई है। (जागरण)

और पढ़े -   शिवराज के गृहनगर में फिर किसान ने की आत्महत्या, 8 दिनों में 12 किसानों ने दे दी अपनी जान

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE