राजस्थान के झुंझनूं जिले के नुआ गांव में 1965 में भारत-पाक युद्ध के हीरो रहे कैप्टन अय्यूब खान को श्रद्धांजलि देने पहुंचे राष्ट्रपति महात्मा गांधी के प्रपौत्र तुषार के. गांधी ने देश के वर्तमान हालात पर चिंता जाहिर की.

उन्होंने कहा कि देशभक्ति के झूठे प्रमाणपत्र बांटे जा रहे हैं. देशभक्ति की व्याख्या को बदलने की कोशिश की जा रही है. यह देश के लिए काफी बड़ा खतरा है. इस दौरान उन्होंने गौआतंकियों के हाथों मारे गए हरियाणा के पहलू खां को भी याद किया.

और पढ़े -   योगी राज: गरीब और कुपोषित बच्चों का मिड-डे मील गायों को खिलाया जा रहा

गांधी ने कहा, देश का कानून यह नहीं कहता कि आप स्वयं किसी व्यक्ति को सजा दे. पहलू खां की पीट पीट कर हत्या कर दी गई. . हमारे देश में कानून है, किसी को सजा कानून देता है. देश में अराजकता का माहौल चल रहा है. सत्ता के खिलाफ बोलने वाले की आवाज दबा दी जाती है.

उन्होंने कहा, ऐसे में लोगों से मुल्क की कानून व्यवस्था से विश्वास उठता जाएगा. ऐसे में देश पर खतरा सीमाओं से नहीं आए, यह खतरा देश के अंदर से ही आएगा. उन्होंने कहा, देश भक्त कहने से नहीं, देश भक्ति तब साबित होती है जब आप अपने जीवन के चंद दिनों में से या फिर अपने जीवन की कुर्बानी देकर इस देश की सेवा करें.

और पढ़े -   नहीं रुक रहा मुस्लिमों पर अत्याचार, फर्रुखाबाद में नबी अहमद की पीट-पीट कर हत्या

गांधी ने कहा कि देश की आजादी अकेले बापू की वजह से नहीं, उनके दिखाए रास्ते पर आम नागरिकों के चलने से मिली. उनके नेतृत्व में शांति अहिंसा की राह पर चल कर आजादी दिलाई. उन्होंने कहा, जो अपने समाज, वतन पर कुछ असर छोड़ जाएगा वही सच्चा देश भक्त कहलाएगा.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE