एक बौद्ध लड़की द्वारा अपनी मर्जी से इस्लाम धर्म अपना कर शिया मुस्लिम युवक से शादी करने के मामले को लव जिहाद का रूप देकर लद्दाख में मुस्लिमों और बौद्धों के बीच साम्प्रदायिक तनाव पैदा करने की कोशिश की जा रही है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, करगिल में द्रास के 32 साल के मुर्तजा आगा ने 2016 में बौद्ध लड़की से शादी की थी. इस बौद्ध लड़की ने 2015 में अपनी मर्जी से इस्लाम कबूल किया था. दोनों ने एक साल बाद बेंगलुरु में शादी की थी. लेकिन इस पुरे मामले को बेवजह लव जिहाद का रूप दिया जा रहा है.

और पढ़े -   BHU में जबरदस्ती कराए जा रहे कैंपस खाली, साथी को छुड़ाने के लिए छात्रों ने थाना घेरा

बावजूद इसके जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट प्रशासन को इस जोड़े को परेशान न करने का आदेश दे चूका है. साथ ही बौद्ध लड़की की और से सीएम महबूबा को लिखे पत्र में उसने माना है कि उसने मुर्तजा से शादी अपनी पसंद से की है. इसमें जोर जबरदस्ती का कोई बात सामने नहीं आई है.

इसी बीच लद्दाख बुद्धिस्ट एसोसिएशन (एलबीए) ने इस मुद्दे को लव जिहाद का मामला बताकर हवा देनी शुरू कर दिया. इम्स ऑफ इंडिया के अनुसार एलबीए के एक अधिकारी पीटी कुंज़ैंग ने कहा कि बुद्धिस्ट प्रतिनिधियों का एक समूह पीएम मोदी से मुलाकात के लिए जुगाड़ में लगा हुआ है ताकि स्थिती को काबू किया जा सके.

और पढ़े -   गुजरात में नवरात्रि से पहले कंडोम की बिक्री में 35 फीसदी की वृद्धि

याद रहे लद्दाख में बुद्धिस्ट 51 प्रतिशत है तो वहीं मुस्लिमों की संख्या 49 प्रतिशत है. ऐसे में सियासी समीकरणों के चलते मामले को तूल दिया जा रहा है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE