गुजरात के साबरकांठा जिले में गो-तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किये गए आदिवासी युवक की पुलिस हिरासत में मौत हो गई हैं. 58 साल के कोदरभाई गमार को गुजरात के गोहत्या पर संशोधित कानून के तहत गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने बताया कि कोदर गामर की मौत की जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

साबरकंठा के पुलिस अधीक्षक पी एल माल ने कहा कि खेरोज पुलिस की हिरासत में बंद गामर बीमार पड़ गया और उसे अहमदाबाद के एक अस्पताल ले जाया गया, जहां गुरुवार को उसकी मौत हो गई. वह जिले के खेदब्रह्म तालुक में कोटडा गांव का रहने वाला था और आदिवासी समुदाय से ताल्लुक रखता था.

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि मंगलवार शाम को गामर पेट खराब होने की वजह से बार-बार शौचालय गया. फिर वह नहाने गया और बाथरूम में गिर गया. उसे एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया और वहां से हिम्मतनगर सिविल अस्पताल ले जाया गया. बाद में उसे अहमदाबाद सिविल अस्पताल में भेज दिया गया जहां रात करीब साढ़े 10 बजे उसकी मौत हो गई.
उन्होंने कहा कि मामले में पुलिस इंस्पेक्टर का तबादला करके  विभागीय जांच के आदेश दिए हैं जिसका नेतृत्व पुलिस उपाधीक्षक करेंगे. नियम के अनुसार मजिस्ट्रेट भी न्यायिक जांच करेंगे. उधर मृतक के परिवार वालों का आरोप है कि उसकी मौत पुलिस कस्टडी में यातनाओं के चलते हुई है. साथ ही पुलिस पर मृतक से 4 लाख रुपये रिश्वत के तौर पर भी मांगे जाने का आरोप पुलिस पर लगाया जा रहा है.
और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिमों के समर्थन में लिखा, बीजेपी ने दिखाया मुस्लिम नेता को बाहर का रास्ता

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE