mso

संभल: समान नागरिक सहिंता के नाम पर मुस्लिमो के निजी क़ानून मैं दखल अंदाज़ी के विरोध में’ मुस्लिम स्टूडेंट्स आर्गनाइज़ेशन की एक मीटिंग शहर के चोधरीसराय मैं सम्पन हुई! जिस्समे अपनी माँगो को लेकर एक ज्ञापन माननीय राष्ट्रपति को भेज़ा गया! बेठक मैं अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से तशरीफ़ लाए आर्गनाइज़ेशन के उत्तर प्रदेश उपाध्यक्ष चौधरी मुदब्बिर अली अलीग ने युवाओ से अपने हक़ के लिए खड़े होने का आहान किया!

संस्था के संभल जिला अध्यक्ष वसीम अख़्तर बरकाती ने कहा की मुस्लिमो के निजी क़ानून मैं दखल अंदाज़ी उनके मोलिक अधिकारो का हनन है और संघ का एज़ेंडा है! मुसलमान की देश के संविधान मैं पूरी आस्था है और देश का संविधान मुसलमानो को अपने सामाजिक फ़ैसले शरीयत के दायरे मैं निपटाने की इज़ाज़त देता है!

वसीम ने कहा महिला अधिकारो की बात करने वालो को इस्लाम की सिक्षाओ को पड़ना चाहिए, इस्लाम ने ही महिलाओ को उनके पूरे पूरे अधिकार दिए हैं! चौधरी मुदब्बिर अली ने कहा की मुसलमानो के मज़हबी क़ानून से दखल अंदाज़ी हिंद मैं मुसलमानो को शोषड़ करना है! अगर ऐसा कोई भी क़दम उठाया गया तो यह देश की एकता और अखंडता के लिए ख़तरा होगा!

उन्होने कहा की ज़रूरत पड़ने पर हमारी संस्था अपने उलेमाओ के साथ खड़े होकर इस नापाक कोशिश के खिलाफ लड़ाई लड़ेगी! इस मोक़े पर चौधरी मुशीर ख़ान, फ़ैज़ान अख़्तर बरकाती, क़मर बरकाती, मो. गुल, नूर अत्तारी, रशीद ख़ान, आदि शामिल रहे! बेठक की अध्यक्षता मुशीर ख़ान ने की व संचालन वसीम बरकाती ने किया!


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें