देश भर में गौरक्षा के नाम पर ही रही हत्याओं के खिलाफ ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुसलमीन के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने औरंगाबाद की सड़कों पर उतर कर हजारों की भीड़ के साथ प्रदर्शन किया.

इस दौरान ओवैसी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कड़ी आलोचना की और लोगों से देश को तोड़ने वाली शक्तियों का मुकाबला करने के लिए आपसी एकता पर जोर दिया. उन्होंने कहा, देश में सब सुरक्षित होंगे तभी सबका विकास होगा. उन्होंने गौरक्षकों को शैतान से भी बदतर बताया.

और पढ़े -   सभी धर्मों के लोग आये साथ में, निकाला अमन मार्च

ओवैसी ने कहा कि तुम गायों के नाम पर मासूम इंसानों की जान ले रहे हो. तुम इंसान कहलाने लायक नहीं हो बल्कि मुझे ये कहना पड़ेगा कि तुम्हें शैतान कहना शैतान के लिए इज्जत की बात होगी. तुम शैतान से भी बदतर हो. 2014 में दिल्ली में बीजेपी की सरकार बनी. जुलाई 2017 तक 35 लोगों को भीड़ ने मार दिया जिसमें मुसलमान ही नहीं दलित और हिंदू भाई भी शामिल हैं. 35 में से 28 मुसलमानों को मारा गया और 7 दलित और हिंदू भाई हैं.

और पढ़े -   गोरखपुर मामले में एक पिता का दर्द - स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ पुलिस ने नहीं की शिकायत दर्ज

लोकसभा सांसद ने कहा कि मैं सरकार से, बीजेपी से, संघ परिवार से, बजरंग दल से और वो गौरक्षकों से कहना चाहता हूं कि हिंदुस्तान ‘सबका साथ सबका विकास’ से ताकतवर नहीं बन सकता अगर इसको मजबूत बनना है तो सबकी सोच की बेहतरी की जरूरत है. सबका साथ और सबका विकास तब होगा जब सब सुरक्षित होगें.

ओवैसी ने महाराष्ट्र में की गई मोहसिन शेख की हत्या को याद दिलाते हुए कहा कि महाराष्ट्र की धरती पर पुणे में मोहसिन शेख को मारा गया. मैंने तब संसद में कहा था कि इस तरह के जुल्म को कड़ाई से नहीं रोका गया तो ये बढ़ेगा. आज़ाद चौक से निकली यह रैली लगभग शहर के विभिन्न इलाकों से गुजरती हुई भड़कल गेट पहुंची और जनसभा में तब्दील हो गई.

और पढ़े -   मोदी के सर्कुलर को ठुकराकर बोली ममता सरकार - भाजपा से देशभक्ति सीखने की जरूरत नहीं

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE