जेवर-बुलंदशहर हाईवे पर सामूहिक दुष्कर्म और लूटपाट की घटना की शिकार हुई महिलाओं ने रविवार को फांसी लगाकर आत्महत्या करने की कोशिश की. हालांकि उन्हें बचा लिया गया है.

परिजनों के अनुसार, रविवार सुबह करीब साढ़े 3 बजे सेहरी के वक्त उठी कार ड्राइवर की पत्नी दुपट्टे का फंदा बनाकर खुदकुशी करने की कोशिश कर रही थी. इसी दौरान परिजनों ने उसे ऐसा करने से रोक लिया.

और पढ़े -   गुजरात में स्वाइन फ्लू का कहर, मरने वालों की संख्या पहुंची 242 तक

वहीँ दूसरी और व्यापारी के परिजनों ने बताया ​कि व्यापारी की बहन और भाभी ने खुद को एक कमरे में बंद कर लिया था, यहां उन्होंने खुद पर केरोसिन डालकर आग लगाने की कोशिश की.

पीड़िता का कहना है कि पुलि ने अब तक आरोपियों को गिरफ्तार नहीं किया ऐसे में उनके पास आत्महत्या करने के अलावा और कोई चारा नहीं बचा है.

और पढ़े -   अंधविश्वास से होगा इंसेफेलाइटिस का इलाज, अस्पताल के पलंगों पर बिछाई गई भगवा चादर

उधर मामले में गौतमबुद्धनगर के एसएसपी ने बताया कि खुदकुशी की सूचना पर सीओ को पूछताछ की जिम्मेदार दी है. पीड़ित महिलाओं को हर संभव मदद दी जाएगी. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमें अपना काम कर रही हैं, जल्द ही गिरफ्तारी भी होगी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE