10000

अचानक 500/1000 के नोट बैन से एक तरफ सरकार के इस फैसले को जनता के हित में एक एतिहासिक फैसले के रूप में देखा जा रहा हैं. वहीँ दूसरी तरफ ये फैसला लोग की जान पर एक मुसीबत के रूप में भी पेश आया हैं. कई ऐसे मामले सामने आ चुके हैं जिसमे नोट बैन से परेशान लोग अपनी जान तक गवा चुके हैं.

ऐसा ही एक मामला फरीदाबाद में पेश आया जहाँ पर एक पिता को अपने बेटे की दुसरे दिन बारात ले जानी थी. लेकिन नोट बैन से परेशान पिता को धन के अभाव में ऐसा सदमा लगा की उनकी हार्टअटैक से मौत हो गई.

दरअसल बल्लभगढ़ से दस किलोमीटर दूर गांव सागरपुर निवासी एवं हरियाणा लोकसंपर्क विभाग से सेवानिवृत्त सहायक लोकसंपर्क अधिकारी अशोक गौतम के बेटे योगेश की बुधवार शाम पलवल बरात जानी थी. लेकिन अशोक गौतम मंगलवार रात से ही इस बात को लेकर परेशान थे कि पांच-सौ और एक हजार के नोट बंद हो गए और अब वह अपने बेटे का विवाह कैसे कर पाएगा?

इसी बात से परेशान अशोक गौतम की बुधवार रात डेढ़ बजे मेट्रो अस्पताल में हृदय गति रुकने से मौत हो गई. अशोक गौतम की मौत से गांव में मातम का माहौल है. ऐसे में अब गांववासियों ने सिर्फ 7 आदमी भेजकर अशोक के बेटे की शादी कराने का फैसला किया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE