देश भर में जहरीली राजनीति को जवाब देने के लिए कर्नाटक के प्राचीन कृष्ण मठ परिसर में रमजान के महीने में इफ्तार का आयोजन किया गया था. जिसमे बड़ी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया था. इसमें हिंदू भी और मुसलमान भी शामिल थे.

इसी बीच अब भगवा संगठनों ने इस इफ्तार के विरोध में मंदिर के ‘गौमूत्र शुद्धिकरण’ का ऐलान किया है. इफ्तार का आयोजन मुसलमानों के लिए पेजावर मठ के प्रमुख विश्वेष तीर्थ स्वामी ने किया था.

श्रीराम सेना शुरू से ही इस इफ्तार के खिलाफ थी, ऐसे में अब श्रीराम सेना विरोध प्रदर्शन कर रही है. उनका कहना है कि मंदिर परिसर का गोमूत्र से शुद्दिकरण किया जाए.

श्रीराम सेना इकाई और हिंदू जनजागृति समिति ने कृष्ण मंदिर परिसर के उस हिस्सें की जहाँ नमाज अदा की गई थी को गोमूत्र से शुद्धिकरण करने की योजना बनाई है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE