abdul

जम्मू-कश्मीर में अवामी इत्तिहाद पार्टी(एआईपी) के प्रमुख इंजीनियर अब्दुल रशीद ने कहा है कि कश्मीर समस्या के निपटारे और राज्य में शांति के लिए नियंत्रण रेखा के दोनों तरफ जनमत संग्रह ही एक मात्र विकल्प है.

इंजीनियर रशीद की अगुवाई वाले पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने आज यहां नेहरु विश्राम गृह में केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात कर कहा कि कश्मीर मुद्दे के समाधान का एकमात्र तरीका नियंत्रण रेखा (एलओसी) के दोनों ओर ‘जनमत-संग्रह’ कराना.

और पढ़े -   मोदी सरकार ने जारी नहीं किया स्कॉलरशिप फंड, 250 कश्मीरी स्टूडेंट्स को यूनिवर्सिटी ने निकाला

पार्टी के एक प्रवक्ता के अनुसार रशीद ने कहा कि भारत सरकार को समझना चाहिए कि जिम्मेदारी एक दूसरे पर डालना और हल निकालने से बचना ही एकमात्र वजह है जिसकी वजह से 1947 से जम्मू कश्मीर में हिंसा होती रही है.

उन्होंने आगे कहा, ‘जब हम जम्मू कश्मीर के विवाद को सुलझाने की बात करते हैं तो हम यह कभी सांप्रदायिक आधार पर नहीं कहते बल्कि हम मानते हैं कि जम्मू कश्मीर के दोनों हिस्सों और लद्दाख की जनता को आत्मनिर्णय का अधिकार होना चाहिए और इस मुद्दे को समग्र तरीके से देखा जाना चाहिए, न कि क्षेत्रीय, धार्मिक या जातीय आधार पर.

और पढ़े -   केरल: बुरके को लेकर दो गुट भिड़े, कॉलेज को करना पड़ा बंद

प्रवक्ता के मुताबिक रशीद ने सिंह को याद दिलाया कि जिस नेहरू गेस्ट हाउस में गृह मंत्री विभिन्न प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात कर रहे हैं, उसी जगह केंद्र ने पांच उग्रवादी कमांडरों से बात की थी. रशीद ने कहा, ‘इसलिए भारत सरकार के पास विवाद के समाधान के लिए उग्रवादियों समेत वास्तविक प्रतिनिधियों से बात नहीं करने को जायज ठहराने का कोई तर्क नहीं है.

और पढ़े -   देखे वीडियो: योगी के मंत्री नहीं सुना पाए वंदे मातरम, यूजर ने कहा - अब निकालो से देश से बाहर

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE