up police inhuman face disclose

तमिलनाडु के उसीलमपट्टी के निकट पुलिस ने एक बालिका समेत दस से 12 वर्ष के छह दलित बच्चों पर छह अन्य छात्रों के साथ कथित रूप से मारपीट करने का मामला दर्ज किया है.

पुलिस ने – प्रिवेंशन ऑफ़ चिल्ड्रेन फ्राम सेक्शुयल आफेंस या पोक्सो क़ानून के तहत मामला दर्ज किया है. कि ये मामला एआईएडीएमके के एक विधायक के लगातार फ़ोन आने के बाद दर्ज किया गया है. कहा जा रहा हैं कि विधायक ने छात्रों के बीच हुई मामूली लड़ाई को जातीय रंग दे दिया.

पुलिस के अनुसार छह दलित छात्रों ने एक अन्य वर्ग के छात्रों के साथ बहुत ही छोटे मुद्दे ‘किसका स्कूल अच्छा और बड़ा है’ पर लड़ाई कर ली. दलित छात्रों पर आरोप है कि उन लोगों ने छह अन्य छात्रों के साथ मारपीट की और गाली गलौच की.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने आज बताया कि जांच चल रही है, इसलिए अभी किसी को भी गिरफ्तार नहीं किया गया है. कल्लुपट्टी पुलिस की ओर से अंतिम रिपोर्ट मिलने के बाद ही उचित कारवाई की जाएगी. उन्होंने बताया कि जरूरत पड़ी तो दलित नाबालिगों को किशोर न्यायिक बोर्ड के समझ पेश किया जाएगा.

आरोपी दलित छात्रों के वकील बस्कारा मरुथम ने आरोप लगाया कि पुलिस ने छात्रों के खिलाफ काफी कड़ी धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है. दलित छात्र अन्य छात्रों को उत्पीडि़त करने की बात नकार रहे हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें