chat

मध्यप्रदेश के छतरपुर के बरदौहा गांव के गग्रामीणों को 500 और 1000 के पुराने नोटबंदी से परेशान होकर मजबूरन सरकारी राशन की दुकान को लूटना पड़ा.

दरअसल 500 और 1000 के पुराने नोट बंद हो जाने से ग्रामीण बाजार कुछ भी नहीं खरीद पा रहे थे. वहीँ दूसरी तरफ सेल्समैन ने काफी दिनों से राशन नहीं बांटा था. ग्रामीणों ने कई बार इसकी शिकायत संबंधित अधिकारियों से भी की, लेकिन उन्होंने इस कोई ध्यान नहीं दिया.

और पढ़े -   देहरादून: मिशन 2019 से पहले बीजेपी को बड़ा झटका, छात्रसंघ चुनाव में एबीवीपी का सूपड़ा साफ

जब भी ग्रामीण दुकान पर राशन लेने जाते तो सेल्समैन दुकान बंद करके चला जाता है. ग्रामीणों का आरोप हैं कि सेल्समैन सरकारी राशन की कालाबजारी कर रहा है. ऐसे हालात में ग्रामीणों ने सेल्समैन के पीछे दुकान का ताला तोड़कर सारा सामान लूट लिया.

सरपंच ने बताया कि पुराने नोट बंद होने का कारण लोगों के पास रुपये नहीं थे. इसलिए वो बाजार से भी राशन नहीं ले पा रहे थे.

और पढ़े -   राम मंदिर तोड़कर बनाई थी बाबरी मस्जिद, अब बने रामलला का मंदिर: शिया वक्फ बोर्ड

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE