agr

बरेली: ट्रिपल तलाक और यूनिफार्म सिविल कोड पर प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी के बयान की आलोचना करते हुए सुन्नी बरेलवी उलेमा फेडरेशन के बेनर तलें उलेमा ए अहले सुन्नत ने कहा कि कुरान न तो बदला गया और न ही बदला जाएगा लेकिन अगर केंद्र सरकार होश में न आई तो प्रधानमंत्री की कुर्सी से मोदी जरुर बदल जायेंगे.

बुधवार की देर रात को जिक्रे शहीदे आजम की समाप्ति के बाद मीडिया से मुखातिब होते हुए सुन्नी बरेलवी उलेमा फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुफ्ती इमरान हनफी ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार होश में आ जाए. जो लोग कुरान में बदलाव करने की साजिश रच रहे हैं उन्हें हम बता दें कि कुरान न तो बदला गया और न ही बदला जाएगा.

वहीँ मौलाना मुहम्मद नुमान अख्तर ने कहा कि केंद्र सरकार के पास चुनाव मुद्दा न होना और अपनी कमजोर को छुपाने के लिए तीन तलाक और कॉमन सिविल कोड का मुद्दा उठाया है. शरीयत में किसी तरह का कोई बदलाव नहीं होने दिया जाएगा. अगर केंद्र सरकार ने अपना रवैया नहीं बदला तो मुसलमान सड़कों पर उतर कर विरोध करेंगे.

गौरतलब रहें कि तीन तलाक के विरोध में केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया हैं वहीँ विधि योग ने प्रश्नावावी जारी कर  यूनिफार्म सिविल कोड पर सुझाव मांगे हैं.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें