ar

दुनिया ने कितनी ही तरक्की कर ली हो लेकिन अन्धविश्वास मिटने का नाम ही नहीं ले रहा हैं. इस अन्धविश्वास के चलते लोग बच्चों तक की जान लेने की कोशिश करते हैं. ऐसा ही एक मामला बिहार के अररिया में सामने आया हैं. जहाँ बोरिंग करने से पहले एक 5 साल के बच्चे की बलि देने की कोशिश की गई. हालांकि पुलिस ने बच्चे को उसके परिजनों की मदद से बचा लिया.

और पढ़े -   BHU में हुए छात्राओं पर लाठीचार्ज के विरोध में AMU में हुए विरोध-प्रदर्शन

परिजनों ने आरोप लगाया है कि आर.एस ओपी के हयातपुर गांव के कुछ लोगों ने उनके बच्चे की जबरन बलि देने का कोशिश की. प्राप्त जानकारी के अनुसार, गांव के प्राइमरी स्कूल में पानी के लिए बोरिंग किया गया था लेकिन तीन दिन गुजरने के बावजूद भी  बोरिंग से पानी नहीं आया.

ऐसे में गांव के ही कुछ लोगों ने बच्चे को पकड़ कर जबरन उसकी बलि देने की कोशिश की. बच्चे का हाथ बांध कर गला काटने की कोशिश की. घायल बच्चे का अररिया सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है. अररिया आर. एस ओपी के प्रभारी प्रभाकर भारती ने बताया कि मामले में 6 लोगो को गिरफ्तार किया गया है.

और पढ़े -   छेड़छाड़ का विरोध करने वाली लड़कियों पर BHU कैंपस में हुआ लाठीचार्ज

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE