guj

गुजरात हाईकोर्ट ने गुजरात दंगों से जुडे एक मामले में सोमवार को सात और आरोपियों को उम्र कैद की सजा सुनाई।

2002 में हुए दंगों के दौरान अहमदाबाद जिले के वीरगमाम में वालणा रेलवे क्रासिंग के करीब उन्मादी भीड के हमले में अल्पसंख्यक समुदाय के 3 लोगों की हत्या कर दी गई थी। इस मामले के निचली अदालत ने कुल 10 आरोपियो में से दो को हत्या का दोषी करार देते हुए उम्रकैद की सजा दी थी जबकि चार अन्य को कम गंभीर अपराधों का दोषी बताया था और चार को बरी कर दिया था।

गत 28 जून को इस मामले की सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति हर्षा देवानी और न्यायमूर्ति वीरेन वैष्णव की खंडपीठ ने  निचली अदालत की ओर से दोषी ठहराए गए दो आरोपियों की सजा को बरकरार रखा था जबकि बरी किए गए 4 में से तीन और कम गंभीर अपराध के चारो आरोपियों को भी हत्या का दोषी ठहराया था। इसी अदालत ने सोमवार को सजा सुनाते हुए इन सात को भी उम्रकैद की सजा सुनाई।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें