पंचायत मंत्री गोपाल भार्गव के गृह नगर गढ़ाकोटा में मंगलवार सुबह पूर्व भाजपा मंडल महामंत्री जगदीश लहरिया ने भारतीय स्टेट बैंक की ब्रांच में जमकर हंगामा किया। मैनेजर उमेश पीतलिया को भद्दी-भद्दी गालियां दीं। चेंबर में घुसकर मुंह पर थूक दिया। चप्पल मारी और फाइलें उठाकर फेंक दीं। उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी। पुलिस आरोपी को थाने लाई, लेकिन बीमारी का हवाला देकर जाने दिया।

घटना सुबह 10.15 बजे की है। बैंक का कामकाज शुरू हो रहा था। इस दौरान भाजपा नेता जगदीश लहरिया बैंक मैनेजर के चैंबर में जाकर बैठ गए। उन्होंने ड्यूटी गार्ड से मैनेजर को बुलाने को कहा। 5 मिनट बाद ब्रांच मैनेजर उमेश पीतलिया जैसे ही चैंबर में आए लहरिया आग बबूला हो गए। वे एटीएम से निकाले गए 19 हजार 600 रुपए वापस देने की मांग करने लगे। मैनेजर का कहना था कि एटीएम मेरे कार्यक्षेत्र में नहीं है। सागर में सिविल लाइन आफिस में जांच चल रही है। मैनेजर का इतना कहना था कि लहरिया गालियां देने लगे और टेबिल पर रखी फाइल उठाकर उनकी तरफ फेंक दी। इसके बाद मैनेजर को मारने के लिए दौड़े। गाली-गलौज की आवाज सुनकर गार्ड व अन्य कर्मचारी चैंबर में आ गए। उन्होंने बीच-बचाव किया, लेकिन गुस्से में तमतमाए लहरिया फिर मैनेजर को मारने दौड़े और चप्पल मारने लगे तो मैनेजर व गार्ड ने उसका हाथ पकड़कर बचाव किया। हंगामा करीब 20 मिनट तक चलता रहा। इतना सब होने के बाद लहरिया बैंक मैनेजर से 5 हजार रुपए लेकर चले गए।
बैंक में हंगामा और गाली-गलौज करने वाले भाजपा नेता जगदीश लहरिया को शायद मालूम नहीं था कि मेरे खिलाफ थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। ब्रांच मैनेजर श्री पीतालिया के मुताबिक, दोपहर 2 बजे आरोपी जगदीश एक व्यक्ति को लेकर बैंक परिसर आया। वह बाहर खड़ा रहा। उसने अपने साथी से खबर भेजी कि मैनेजर से कहना कि बाकी रकम और दे दो, वरना इतने चाकू मारेंगे कि कोई पहचान नहीं पाएगा। आरोपी के परिसर में होने की सूचना बैंक मैनेजर ने थाना प्रभारी को दी। वे मौके पर आए और उसे साथ ले गए। थाने में करीब आधा घंटे बैठाया और जाने दिया।
आरोपी लहरिया को थाने लाए थे। वह बीमार था। कोर्ट में अवकाश होने से उसे गिरफ्तार नहीं किया। यहां उसके रखने की परेशानी थी। बीमारी के दौरान कुछ गड़बड़ी हो जाती तो कौन जिम्मेदार होता? अवकाश समाप्त होने के बाद उसे गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जाएगा।
आरएन तिवारी, थाना प्रभारी गढ़ाकोटा  (upuklive)

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें