इलाहाबाद : इलाहाबाद में धार्मिक स्‍थल हटाने को लेकर पुलिस पब्लिक के बीच जमकर भिड़ंत हुई। हालात को काबू में करने के लिए पुलिस हवाई फायरिंग तक करनी पड़ी। वहीं नाराज भीड़ ने शहर में जमकर उत्पात मचाया। बवाल कुछ ऐसा बढ़ा, जिसकी कल्पना प्रशासन ने नहीं की थी। देखते ही देखते कुछ ही मिनटों में लोगों का प्रदर्शन अचानक हिंसक हो गया।

सैकड़ों लोगों की भीड़ बवाल मचा रही थी। पुलिस को भीड़ को काबू में करने के लिए घंटो मशक्कत करनी पड़ी। पहले तो पुलिस ने हल्का बल प्रयोग कर भीड़ को सड़क से खदेड़ना चाहा। लेकिन बात नहीं बनी, लोग लाठीचार्ज से नाराज हो गए और उसके बाद नाराज भीड़ ने पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू कर दी। वहीं पुलिस के जवानों ने भीड़ पर लाठी भांजने के साथ-साथ पत्थरों का जबाव पत्थर से भी दिया।

हालात लगातार बिगड़ते जा रहे थे। हालात को काबू में करने के लिए पुलिस ने भीड़ पर आंसू गैस के गोले दागे। यहीं नहीं पुलिस को हवाई फायरिंग भी करनी पड़ी। घंटो चले बवाल का अंजाम ये हुआ कि प्रदर्शनकारियों ने कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया, जिसमें कुछ सरकारी बसें भी शामिल हैं।

क्या है मामला
इलाहाबाद के सोराव थाना के फाफामऊ कस्बे में सोमवार को अतिक्रमण हटाया जा रहा था। सरकारी अमले ने अतिक्रमण के दायरे में आ रहे एक धार्मिक स्थल को हटाने की कोशिश की। इस पर लोगों ने जमकर विरोध करना शुरू कर दिया। इसके बाद नाराज लोगों ने लखनऊ-प्रतापगढ़ सड़क को जाम कर दिया।

कई घंटों की मेहनत के बाद हालात को काबू में किया गया। अब पुलिस हंगामे की वीडियो रिकार्डिंग के आधार पर हंगामा करने वालों की पहचान में जुटी है। फिलहाल पुलिस ने करीब 100 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। -के.एस. इमैनुअल एसएसपी,इलाहाबाद

हंगामे की वजह से जाम हुई इलाहाबाद-लखनऊ और इलाहाबाद-फैजाबाद सड़क अब खुल चुकी है। पर सवाल प्रशासन और पुलिस पर उठ रहे हैं कि आखिर ऐसी नौबत आई ही क्यों,वक्त पर सावधानी क्यों नहीं बरती गई। साभार: news24


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें