तेलंगाना में उच्च जाति की लड़की से शादी करने पर एक दलित युवक की हत्या कर दी गई. ये युवक 15 मई से लापता था. जिसका शव नलगोंडा जिले में बरामद हुआ है. पुलिस ने नरेश के ससुर श्रीनिवास रेड्डी और दो अन्य लोगों को हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार किया है.

दलित समुदाय से ताल्लुक रखने वाले अंबोजी नरेश की हत्या के बाद उसके शव को जला दिया गया था. दरअसल रेड्डी अपनी बेटी के दलित जाति के युवक नरेश से शादी करने से नाराज था. लगभग दो सप्ताह की पूछताछ के बाद रेड्डी ने अपराध कबूल कर लिया.

और पढ़े -   कांग्रेस नेता को मौत की धमकी - भारत में रहते ही जिंदा रहना तो मोदी-मोदी कहना होगा

रेड्डी ने पुलिस को बताया कि अपराध को अंजाम देने के लिए उसने अपने भाई और बेटे की मदद ली और उसके शव को जलाकर अपने ही खेत में फेंक दिया. एक साथ कॉलेज में पढ़ाई करने वाले नरेश और रेड्डी की बेटी स्वाती (20) ने इस साल मार्च में मुंबई में शादी कर ली थी.

स्वाती के पिता इस शादी के खिलाफ थे। रेड्डी ने नरेश और उसके माता-पिता के खिलाफ दहेज का मामला भी दर्ज कराया था। हालांकि बाद में रेड्डी ने अपनी बेटी और दामाद को यह कहकर बुलाया कि वह इस शादी को स्वीकार करने के लिए तैयार है. इसके बाद नवविवाहित यह जोड़ा 11 मई को अपने गांव पहुंचा, 15 मई को नरेश अचानक लापता हो गया. इससे दुखी स्वाती ने 16 मई को अपने पिता के घर में कथित तौर पर खुदकुशी कर ली.

और पढ़े -   देहरादून: मिशन 2019 से पहले बीजेपी को बड़ा झटका, छात्रसंघ चुनाव में एबीवीपी का सूपड़ा साफ

नरेश के पिता अंबोजी वेंकटेश ने हैदराबाद हाई कोर्ट में याचिका दायर कर अपने लापता बेटे की तलाश के लिए पुलिस को निर्देश देने का अनुरोध किया था. उन्होंने अपने बेटे के लापता होने के पीछे स्वाति के पिता का हाथ होने का अंदेशा जताया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE