कोटा: तंत्र विद्या से एक महिला का इलाज करने के बहाने षड्यंत्र रच दुष्कर्म करने के आरोप में अतिरिक्त सेशन न्यायालय ने आरोपी तांत्रिक और उसके साथी को 7 साल की सजा सुनाई है. कोर्ट ने दोनों आरोपियों पर सजा के साथ-साथ 1-1 हजार का जुर्माना भी लगाया है.

विशिष्ट लोक अभियोजक नित्येन्द्र शर्मा ने बताया 7 जुलाई 2016 को पीड़ित महिला ने नयापुरा थाने में शिकायत दर्ज करवाई थी कि वह पिछले 3 माह से कोटा के खंड गावड़ी में किराए के मकान में रह रही थी. उसके लंबे समय से पेट दर्द की शिकायत थी. काफी इलाज के बाद भी दर्द सही नहीं हुआ तो किसी ने उनको तांत्रिक लेखराज के पास जाने की सलाह दी.

और पढ़े -   डीएम रिपोर्ट में खुलासा - ऑक्सीजन आपूर्ति में भ्रष्टाचार बना बच्चों की मौत का सबब

महिला और उसका पति तांत्रिक के पास पहुंचे तो तांत्रिक ने महिला से झाड़ा देकर 7 जुलाई की रात घर बुलाया. वह तांत्रिक के कहे अनुसार उसके घर पहुंच गए. वहां से तांत्रिक बहला-फुसलाकर महिला को श्मशान ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया.

कोर्ट ने आरोपित तांत्रिक लेखराज और सह आरोपी पृथ्वीराज को 7 साल की सजा सुनाई साथ ही एक-एक हजार का अर्थ दंड भी लगाया है.

और पढ़े -   उत्तर प्रदेश में भी बाढ़ का कहर जारी, हुई अब तक 69 लोगों की मौत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE