shila dixit

दिल्ली के टैंकर घोटाले में पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के खिलाफ उपराज्यपाल नजीब जंग की सिफारिश पर दिल्ली की एंटी करप्शन ब्रांच इस मामले की जांच करेगी. दिल्ली सरकार ने शीला के खिलाफ 400 करोड़ रुपए के कथित वाटर टैंकर घोटाले की जांच की मांग की थी.

हालांकि कांग्रेस ने शीला दीक्षित को बेदाग बताते हुए कहा कि दिल्ली में 15 साल राज करने वाली शीला पर केजरीवाल सरकार कीचड़ उछाल रही है. आपको बता दें वाटर टैंकर केस साल 2012 का मामला है तब शीला सरकार के दौरान जल बोर्ड की तरफ से 385 स्टेनलेस स्टी के पानी टैंकर खरीदे गए थे। इन्हीं में धांधलेबाजी का आरोप है.

और पढ़े -   गांधी जिस अंतिम आदमी की बात करते थे वह आज भी उतना ही जूझ रहा है

इस मामले में कपि‍ल मिश्रा ने ट्वीट किया, ‘शीला दीक्ष‍ित भ्रष्टाचार करने के लिए अब सलाखों के पीछे होनी चाहिए. शीला और तिहाड़ के बीच एक ही अड़चन है और वो है बीजेपी में उनके एजेंट्स.’ मिश्रा ने कहा, हम करप्शन के अलग-अलग मामलों में उनके ख‍िलाफ तीन एफआईआर दर्ज करा चुके हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE