deobandi ijtema
केवलराम चौराहे पर धरना देते मौलाना सरफुद्दीन अहमद कादरी व अन्य।

तब्लीगी जमात के आयोजन को प्रशासन की अनुमति, पुलिस के पुख्ता इंतजाम

खंडवा मध्यप्रदेश -तब्लीगी जमात द्वारा नागचून रोड पर रविवार से दो दिवसीय इज्तेमा (धार्मिक कार्यक्रम) के लिए प्रशासन ने अनुमति दी है। विरोध में सुन्नी जमात के मौलाना सरफुद्दीन अहमद कादरी, शब्बीर कादरी व हशमती ग्रुप के सदस्यों ने शनिवार सुबह केवलराम पंप चौराहे पर अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया।

इज्तेमा को लेकर पूर्व में भी मौलाना ने विरोध किया था। तब प्रशासन ने स्थान बदल दिया था। इस बार विरोध करने वालों से किसी अधिकारी ने चर्चा नहीं की। मौलाना सरफुद्दीन का कहना है कि हजरत खानशाहवली क्षेत्र में इज्तेमा होने से युवक आतंकी गतिविधियों से जुड़ेंगे। इसलिए हम इसका विरोध करते हैं। वहीं दूसरी ओर तब्लीगी जमात के एक प्रतिनिधि मंडल ने कलेक्टर-एसपी से मिलकर इज्तेमा के संबंध में किए जा रहे भ्रामक प्रचार संबंधी सफाई पेश की। प्रशासन द्वारा इज्तेमा को लेकर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए है। पूरे समय वीडियो रिकार्डिंग व सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जाएगी। इज्तेमा की शुरूआत रविवार सुबह 6 बजे फजर की नमाज बाद होगी। रात 9 बजे तक चलेगा। इस बीच नमाज के वक्त तकरीर व बयान नहीं होंगे। इज्तेमा के लिए महाराष्ट्र से आलिम व मुफ्ती आ रहे हैं। समापन साेमवार रात 9.30 बजे दुआ के साथ होगा।

और पढ़े -   दलित ने संभाली राष्ट्रपति की कुर्सी, फिर भी 300 दलित परिवार भूख हड़ताल पर बैठने को मजबूर

आतंकवाद के लिए भड़काते

मौलाना सरफुद्दीन अहमद कादरी ने कहा तब्लीगी जमात के लोग आतंकी संगठनों से जुड़े है इसके प्रमाण भी मिले हैं। हजरत खानशाहवली क्षेत्र सुन्नी व पीर-फकीरों को मानने वालों का हैं। वहां के भोले-भाले लोगों के बीच तब्लीगी कर लोगों को भटकाने का काम इज्तेमा के माध्यम से किया जा रहा है, जिसका हम विरोध कर रहे है। आगे भी यह जारी रहेगा। प्रशासन को इस पर ध्यान देना चाहिए।

और पढ़े -   योगी सरकार की कानून-व्यवस्था पर अब तो राज्यपाल ने भी उठा दिए सवाल

जमात के बारे में भ्रामक प्रचार

इज्तेमा कमेटी सदस्य सैयद इसरार अली ने कहा निमाड़ अंचल में 40 साल से इज्तेमा हो रहा है। इसके अलावा तब्लीगी जमात का इज्तेमा भोपाल में होता है जिसमें देश-विदेश से लाखों लोग एकत्र होते है। इसकी व्यवस्था शासन-प्रशासन द्वारा की जाती है। कुछ लोग भ्रामक प्रचार कर रहे हैं। इज्तेमा में आने की सभी को छूट हैं मौके पर आएं और मौलाना द्वारा किए जा रहे बयान सुने।

और पढ़े -   आखिर संघ की मदद से महाराणा प्रताप ने मुग़ल बादशाह अकबर को हरा ही दिया

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

धार्मिक कार्यक्रम को रोक नहीं सकते। इज्तेमा कमेटी को प्रशासन की अनुमति है। पुलिस की ओर से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है। -डॉ. महेंद्रसिंह सिकरवार, एसपी


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE