मध्यप्रदेश के होशंगाबाद जिले के बिसोनीकला गांव में 11 केवी की लाइन सुधार रहे युवक की करंट लगने से खंभे पर ही मौत हो गई. उसकी लाश करीब डेढ़ घंटे तक झूलते तारों पर लटकी रही। प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को कोठरा में निवासी राकेश पुत्र डालचंद कहार 11 केवी के खंभे पर चढकर लाइन सुधार रहा था। अचानक बिजली सप्लाई होने से राकेश खंभे पर उसकी मौत हो गई।
ग्रामीणों के अनुसार राकेश का शव डेढ घंटे तक खंभे पर तारों में उलझा रहा। लाइनमैन कैलाश विश्वकर्मा ने 100 रुपए रोज के हिसाब से राकेश को इस काम के लिए रखा था। हादसे के वक्त वह भी वहां मौजूद था, लेकिन वह भाग निकला। कंपनी के जेई जितेंद्र राजपूत ने इस मामले की जांच कराने की बात कही है।
विद्युत वितरण कंपनी के सहायक यंत्री जितेंद्र राजपूत ने कहा कि राकेश कहार विभाग का कर्मचारी नहीं था। वह खंभे पर कैसे चढ़ा, यह जांच के बाद ही बताया जा सकता है।

लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें